बड़ी खबर! लंदन से ‘इस’ तारीख को महाराष्ट्र पहुंचेगा छत्रपति शिवाजी महाराज का ‘वाघ नख’

Loading

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र के लिए आज हम एक बड़ी खबर लेकर आये है। दरअसल आज हम सभी छत्रपति शिवाजीप्रेमियों  के लिए एक खुशी की खबर है। छत्रपति शिवाजी महाराज के वाघ नख को लंदन से वापस लाने का आंदोलन अब तेज हो गया है। छत्रपति शिवाजी महाराजा का बाघ नख 16 नवंबर को मुंबई लाया जाएगा। इसके लिए सांस्कृतिक कार्य मंत्री सुधीर मुनगंटीवार कल लंदन रवाना होंगे। आइए यहां जानते है खबर विस्तार से… 

यह महाराष्ट्र के शिवाजी प्रेमियों के लिए बड़े गर्व की बात है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि छत्रपति शिवाजी महाराज के वाघ नख को भारत लाने के लिए महाराष्ट्र सरकार 3 अक्टूबर को लंदन के विक्टोरिया और अल्बर्ट संग्रहालय के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर करेगी। इस समझौते के बाद अगले 3 साल तक महाराष्ट्र में वाघ नखे लाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। 

जानकारी के लिए आपको बता दें कि छत्रपति शिवाजी महाराज ने इसी वाघ नख की मदद से अफजल खान को मौत के घाट उतारा था। उन्हीं वाघ नखों  को भारत लाया जाएगा और यहां के लोगों के देखने के लिए रखा जाएगा। इस बीच, इन वह नखों को महाराष्ट्र लाने के बाद मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और उपमुख्यमंत्री अजित पवार भी उनके साथ रहेंगे। मुनगंटीवार ने निजी मीडिया को यह भी जानकारी दी है कि वाघ के महाराष्ट्र पहुंचते ही एक बड़ा समारोह आयोजित किया जाएगा। 

ऐसा होगा वाघ नख का सफर

  • 16 नवंबर को शिवाजी के वाघ नख मुंबई पहुंच जाएंगे।
  • 17 नवंबर को सतारा के श्री छत्रपति शिवाजी महाराज संग्रहालय में बाघ स्थापित किए जाएगा।
  • वाघ नख का प्रदर्शन 17 नवंबर 2023 से 24 अगस्त 2024 तक सतारा में किया जाएगा।
  • वाघ नख  को 15 अगस्त 2024 से अप्रैल 2025 तक सरकारी संग्रहालय, नागपुर में रखा जाएगा।
  • वाघ नख  को अप्रैल 2025 से नवंबर 2025 तक कोल्हापुर के सरकारी संग्रहालय में रखा जाएगा।
  • नवंबर 2025 और नवंबर 2026 के बीच,  वाघ नख को मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज संग्रहालय में प्रदर्शित किया जाएगा।
  • 16 नवंबर 2026 को  वाघ नख  को वापस लंदन के विक्टोरिया और गिल्बर्ट संग्रहालय में भेज दिया जाएगा।