नक्सलियों को जैसे का तैसा जवाब दे, पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने दिए पुलिस को सक्त निर्देश

    गड़चिरोली. जिले के सुरजागड़ लोहखनिज प्रकल्प में बाधा लानेवाले नक्सल गतिविधियों को जैसे का वैसा जवाब देने के निर्देश राज्य के नगरविकास मंत्री तथा जिले के पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने दिए. गड़चिरोली जिले के विभिन्न समस्याओं का जायजा लेने के लिए आज 21 सितंबर को मुंबई में पालकमंत्री ने विशेष बैठक ली. इस बैठक में उन्होने गड़चिरोली पुलिस अधिक्षक को उक्त आदेश दिए.

    जिले के सुरजागड लोहखनिज प्रकल्प के समिप 1 50 वर्षीय व्यक्ती की नक्सलियों ने हत्या करने की घटना हुई थी. इस व्यक्ती के शव के साथ नक्सलियों ने पर्चा डाला था. सुरजागड़ प्रकल्प तत्काल रोकने की चेतावनी दी थी. इस धटना के बाद मंत्री एकनाथ शिंदे ने आज मंगलवार को ततकाल बैठक लेकर कुल स्थिती का जायजा लिया.

    उक्त मृत व्यक्ती का सुरजागड प्रकल्प से कोई संबंध नहीं होने की बात पुलिस अधिक्षक ने स्पष्ट की. सुरजागड़ लोहखनिज प्रकल्प चलाने का निर्णय राज्य सरकार ने लिया है. वह क्रियांन्वित करना यह सरकार की प्राथमिकता है. जिससे यह प्रकल्प चलाते समय इसमें कोई रूकावट लाने का प्रयास कर रहा है, तो उसे जैसे का वैसा जवाब देने के निर्देष पालकमंत्री शिंदे ने इस समय दिए. बैठक में विधायक डा. देवराव होली, जिलाधिकारी संजय मीना, पुलिस अधीक्षक अंकित गोयल, मुख्य वन संरक्षक डा. किशोर मानकर आदि समेत अन्य वरीष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.

    नक्सल गतिविधियों को रोकने सुधार की आवश्यकता

    नक्सल गतिविधियों को रोकने के लिए जिले की सड़के तथा यातायात में तेजी से सुधार करने की आवश्यकता है, ऐसी बात पालकमंत्री शिंदे ने बैठक में कहीं. इसके लिए इस क्षेत्र के सड़कों के प्रस्ताव तत्काल मंजूर करने के निर्देश उन्होने संबंधित अधिकारियों को दिए. सुरजागड़ का उक्त प्रकल्प निर्माण करते समय कंपनी स्थानियों को दी जानेवाली सुविधा, प्रशिक्षण केंद्र का कार्य उचित रूप से शुरू है या नहीं इसका जायजा लेने की सूचना उन्होने पुलिस अधिक्षक तथा जिलाधिकारी को दिए. सुरजागड आउटपोस्ट के कार्यो का भी जायजा लिया. पुलिस गश्त करते समय आवश्यक ध्यान रखे, ऐसी महत्वपूर्ण सूचना भी की.

    जिला पुलिस प्रशासन तैयार-गोयल

    पुलिस की इस क्षेत्र में पुरी गश्त होकर नक्सलियों के छोट से छोटे गतिविधियों पर ध्यान होन की बात जिला पुलिस अधिक्षक अंकित गोयल ने बैठक में कहीं. सुरजागड़ यह छत्तीसगड़ से महाराष्ट्र में आने का परंपरागत मार्ग है, फिर भी वहां कोई अनुचित प्रकार न हो, इसके लिए पुलिस प्रशासन पूर्ण रूप से तैयार होने की बात पुलिस अधिक्षक गोयलन ने इस समय बताई.

    वाघ को पिंजरे में कैद करे

    जिले के आदमखोर बाघ को जल्द से जल्द पिंजरे में कैद करने के निर्देश पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने बैठक में दिए. इसके लिए ‘वाईल्ड लाईफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया’ जैसी विश्वस्तर के संस्था की मदद लेने के निर्देश भी उन्होने प्रशासन को दिए. जिले के आदमखोर बाघ ने 17 लोगों के साथ ही सैंकड़ों मवेशियों की जान ली है.

    जिला प्रशासन के साथ वनविभाग द्वारा बाघ को पिंजरे में कैद करने का प्रयास शुरू है. किंतू अबतक बाघ नहीं मिला है. जिससे नागरिकों में दहशत का वातावरण है. इसपर तत्काल उपाययोजना करने के निर्देश पालकमंत्री शिंदे ने इस समय दिए.