arrest
File

  • अपहरण के बाद की थी पिटाई

गोंदिया. पुनाटोली निवासी अमर सुरजितसिंह गांधी (43) व प्रिन्स गांधी (37) पर हमला प्रकरण में फरार पांडे बंधुओं ने अंतत: जिला अपर व सत्र न्यायालय में सरेंडर कर दिया. उपविभागीय पुलिस अधिकारी जगदीश पांडे की अगुवाई में सहायक पुलिस निरीक्षक दिलीप कुंडोजवार की टीम पांडे बंधुओं को हिरासत में लेकर बाद में न्यायालय में लेकर आई. 9 अक्टूबर की शाम 6 बजे लगभग 15 आरोपियों ने मिलकर गांधी बंधुओं का अपहरण कर बाद में एक मकान में ले जाकर उनकी जमकर पिटाई की थी.

इस प्रकरण में पुलिस ने कन्हारटोली निवासी राजू दुबे सहित एक-एक कर 9 आरोपियों को गिरफ्तार किया था, किंतु सिविल लाईन, सतीबोरी चौक निवासी अमीत अरुण पांडे (35) व आशीष अरुण पांडे (38) तथा एक आरोपी इस तरह 3 आरोपी फरार थे. न्यायालय से आशीष पांडे को अग्रिम जमानत मिल गई थी. आरोपियों पर मकोका लगाया गया है.

जिसमें अमीत पांडे की अग्रिम जमानत के लिए अर्जी खारिज कर दी गई थी, इसके बाद पांडे बंधुओं ने गिरफ्तारी से बचने के लिए नागपुर उच्च न्यायालय में अर्जी दाखिल की थी. इस पर वहां उन्हें पहले जिला व सत्र न्यायालय में आत्मसमर्पण करने के लिए निर्देश दिए गए थे. यह उल्लेखनीय है कि अमर गांधी पर स्कूल में नौकरी लगाने के लिए अमित पांडे से 10 लाख रुपये लेने के आरोप थे. इन रुपयों की वापसी के लिए आरोपियों ने मारपीट व अपहरण जैसी घटना को अंजाम दिया था.