नगर पंचायत चुनाव का बजा बिगुल

    गोंदिया. राज्य चुनाव आयोग ने अप्रेल 2020 से दिसंबर 2021 तक अपने 5 वर्ष के कार्यकाल को समाप्त करने वाली कुल 105 नपं के आम चुनाव कार्यक्रम घोषित किए है. जिसके कारण नागरी क्षेत्र में आम चुनाव की आचार संहिता लागू हो गई है.  जिले के अर्जुनी, सडक अर्जुनी, देवरी व गोरेगांव इन 4 नपं के चुनाव होने वाले है. आगामी 21 दिसंबर को मतदान व 22 दिसंबर को मतगणना होगी. गत एक वर्ष से नपं के आम चुनाव को पूर्ण विराम लग गया है.

    राज्य चुनाव आयोग ने राज्य के 105 नपं के आम चुनाव कार्यक्रम घोषित कर दिए है. इस कार्यक्रम में गोंदिया जिले के सडक अर्जुनी, अर्जुनी, देवरी व गोरेगांव इन 4 नपं का समावेश है. जाहीर किए गए चुनाव कार्यक्रम के अनुसार 1 दिसंबर से नामांकन अर्ज दाखिल किए जाएंगे. वहीं 21 दिसंबर को मतदान   व  22 दिसंबर को मतगणना होगी. चुनाव कार्यक्रम जाहीर होने से गोंदिया जिले के नागरी क्षेत्र में आम चुनाव की आचार संहिता लागू हो गई है.

    4 नागरी क्षेत्र में चुनावी हलचल तेज

    जिले के अर्जुनी मोरगांव, देवरी व सडक अर्जुनी इन 3 नपं का पंचवार्षिक कार्यकाल 26 नवंबर 2020 को समाप्त हो गया है. वहीं गोरेगांव नपं का पंचवार्षिक कार्यकाल 29 नवंबर 2020 को समाप्त हो गया है. इन 4 नपं में पार्षदों की संख्या 17 है. इन 4 नपं में आम चुनाव होगे. गत वर्ष से नागरी क्षेत्र में चुनाव कार्यक्रम की प्रतिक्षा होने पर चुनाव आयोग ने आम चुनाव कार्यक्रम जाहीर किया है. जिससे इन 4 नागरी क्षेत्र में चुनावी हलचले तेज हो गई है.

     गोरेगांव का समावेश नहीं

    राज्य चुनाव आयोग ने राज्य की 105 नपं का चुनाव कार्यक्रम जाहीर किया है. इसमें गोंदिया जिले के कॉलम में 4 नपं का समावेश है. लेकिन  गोरेगांव की जगह ग्राम सावली का उल्लेख किया गया है.  जिले में सावली नपं अस्तित्व में नहीं होने से चुनाव प्रशासन द्वारा यह गलती हुई है. ऐसा होने पर भी गोंदिया जिले के नागरिकों ने इस कार्यक्रम में स्फूर्ति से गोरेगांव का समावेश किया है. आगामी दिनों में इस सूची के दोष कम कर गोरेगांव का समावेश होगा क्या? इस ओर ध्यान लगा हुआ है.

    ऐसा होगा चुनाव कार्यक्रम

    अंतिम प्रभाग निहाय मतदाता सूची प्रसिद्धी 29 नवंबर, जिलाधीश द्वारा कार्यक्रम जारी 30 नवंबर, नामांकन अर्ज दाखिल 1 से 7 दिसंबर तक (अवकाश का दिन छोड़कर), नामांकन पड़ताल 8 दिसंबर, नामांकन वापस लेना 13 दिसंबर, अपील व आपत्ती के लिए सुरक्षित तारीख 16 दिसंबर, मतदान 21 दिसंबर, मतगणना 22 दिसंबर को होगी.