पुलिस के सामने बेटों ने की पिता की हत्या, जानिए क्या है मामला

    जलगांव. पिछले दो दिनों में हुई दो हत्या कांड (Murder Cases) ने जलगांव (Jalgaon) में हलचल मचा दी है। जहां एक घटना में मां (Mother) के चरित्र (Character) पर संदेह करने वाले बाप की दो बेटों ने मिल कर रास्ते पर ही पुलिस (Police) के सामने हत्या (Murdered) कर दी। मृतक (Deceased) की पहचान प्रेमसिंह राठौड़ (Prem Singh Rathod) के नाम से हुई है। दीपक राठौड़ (Deepak Rathod) और गोपाल राठौड़ (Gopal Rathod) उसके दो बेटे हैं जिन्होंने अपने बाप की हत्या कर दी। एक अन्य घटना में, एक सुरक्षा गार्ड की सिर में चाकू मारकर हत्या कर दी गई। लगातार दो हत्याओं से जलगांव शहर हिल गया है।

    पहली घटना रविवार सुबह करीब साढ़े दस बजे निमखेड़ी रोड पर हुई। जहां प्रेमसिंह राठौर को अपनी पत्नी बसंतीबाई के चरित्र पर हमेशा संदेह होता था। उसके चार बच्चे हैं दीपक, गोपाल, कविता और शिवानी। प्रेमसिंह के कान का ऑपरेशन होना था, जिसके लिए उसने अपनी पत्नी बसंतीबाई से कहा कि वह दीपक और गोपाल को भी सरकारी अस्पताल ले जाए। पिता के अपनी मां के चरित्र पर शक होने पर बच्चे नाराज हो गए। वह घर में ही उसके साथ मारपीट करने लगे। प्रेमसिंह वहां से भागा और घर में से चाकू लेकर आया। उसने गोपाल पर हमला करने की कोशिश की। गोपाल ने चाकू छीन लिया। इस संघर्ष में विवाद और बढ़ गया। गोपाल ने पिता के सीने, पेट और पैरों में छुरा घोंपना शुरू कर दिया। दीपक ने उसे डंडे से पीटना शुरू कर दिया। खून से लथपथ प्रेमसिंह सड़क पर निकल कर भागने लगा।

    गोपाल ने उसका पीछा किया और फिर से उसपर हमला किया। इस घटना को थाना कर्मचारी श्याम बोरसे ने देखा जब वह ड्यूटी पर था। वह तुरंत बच्चों के पास दौड़े और उन्हें हथकड़ी पहना दी। बोरसे ने तुरंत मोबाइल से थाना प्रभारी को फोन किया और टीम बुलवा ली। सोमवार को जलगांव में एक और हत्या हुई। इस घटना में एक सुरक्षा गार्ड के सिर पर वार करके उसकी हत्या कर दी गई। मृतक का नाम राजू सोनावणे है। घटना शहर के रामपेठ के अंबेडकर नगर में हुई। पुश्तैनी मकान की बिक्री को लेकर सोनवणे परिवार विवादों में घिर गया था। इसलिए यह हत्या हुई, एैसी आशंका जताई जा रही है। सोते समय हमलावर ने राजू सोनवणे के सिर में वार किया। इसलिए उसे विरोध करने का मौका ही नहीं मिला। उसकी नींद में ही मौत हो गई। पुलिस ने मामले में संदिग्धों से पूछताछ शुरू कर दी है।