मुंबई के 7 हजार विद्यार्थियों को लगा टीका

    मुंबई: मुंबई (Mumbai) में युवाओं के टीकाकरण (Vaccination) पर अधिक फोकस किया जा रहा है। फिर चाहे वह कामकाजी वर्ग हो या फिर विद्यार्थी (Students) । मुंबई के डिग्री कॉलेजों (Degree Colleges) में पढ़ने वाले 7,014 विद्यार्थियों का टीकाकरण बीएमसी (BMC) द्वारा किया गया है। कॉलेज (College) शुरू होने के बाद विद्यार्थियों की सुरक्षा को लेकर काफी प्रश्न उठ रहे हैं, ऐसे में राज्य सरकार ने मिशन ‘युवा स्वास्थ्य’ मुहिम के तहत विद्यार्थियों का टीकाकरण करने की घोषणा की। 

    25 तारीख से शुरू हुई इस टीकाकरण मुहिम 1 नवंबर यानी 7 दिनों में मुंबई के कॉलेजों में पढ़ने वाले 7 हजार विद्यार्थियों को सुरक्षा की डोज लगाई गई। कॉलेजों के अनुरोध के बाद बीएमसी ने कई कॉलेजों में टीकाकरण कैम्प लगाकर विद्यार्थियों को वैक्सीनेट किया। अतिरिक्त बीएमसी आयुक्त सुरेश काकानी ने बताया कि हमने हर वार्ड के अधिकारी को उनके अंतर्गत आगनेवाले कॉलेजों के साथ संपर्क साध विद्यार्थियों के टीकाकरण की जानकारी मांगने का निर्देश दिया। कॉलेजों से जानकारी मिलते कॉलेजों में कैम्प लगाकर या फिर नजदीकी टीकाकरण केंद्र में विद्यार्थियों को टीका दिया गया। 

    116 कॉलेजों में लगे थे कैम्प

    मुंबई के विभिन्न वार्डों में आनेवाले 116 कॉलेजों में बीएमसी ने विद्यार्थियों के टीकाकरण के लिए कैम्प लगाए थे। बीएमसी स्वास्थ्य विभाग की एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि विद्यार्थियों के टीकाकरण की संख्या और भी बढ़ सकती है, क्योंकि कुछ लोगों की रिपोर्ट अब भी नहीं आई है।

    25 अक्टूबर से 1 नवंबर के आंकड़े

    तारीख               कॉलेज विद्यार्थी
    25     05 440
    26 10 554
    27   17 1157
    28    35  1656
    29  25  1631
    30   16 1230
    01 08 346

    18 से 44 उम्र के 92 % का पहला डोज पूरा

    मुंबई में 18 से 44 उम्र के 56 लाख 84 हजार 800 लोग हैं, इसमें से 52 लाख 52 हजार 973 लोगों ने वैक्सीन का पहला डोज ले लिया है, जबकि 26 लाख 25 हजार 256 लोगों ने वैक्सीन के दोनो डोज ले लिए हैं। उक्त आंकड़े बताते हैं कि उक्त आयु वर्ग के 92 फीसदी लोगों ने कम से कम वैक्सीन की एक डोज और 46 फीसदी ने वैक्सीन की दूसरी डोज भी ले ली है। 

    केंद्रों पर लौटी रौनक !

    नवरात्रि के शुरुआत से ही मुंबई में टीकाकरण की रफ्तार धीमी होती चली गई। दीवाली तक टीकाकरण का रोजना आंकड़ा 50 हजार से भी नीचे चला गया। केंद्र में भीड़ ही नहीं थी। दीवाली के मद्देनजर 4 दिन टीकाकरण केंद्रों को बंद भी रखा गया, लेकिन त्योहार समाप्त होते ही सोमवार को टीकाकरण केंद्रों पर रौनक लौट आई। विभिन्न केंद्रों में करीब 1 लाख 3 हजार 177 लोगों का टीकाकरण किया गया।