BJP Choupal Vs Congress Panchayat

    मुंबई : अगले साल होने वाली बीएमसी चुनाव ( BMC Election) में उत्तर भारतीयों को पटाने के लिए बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (Congress) के बीच कम्पटीशन तेज हो गई है। बीजेपी ने इस समाज के लोगों को साधने के लिए करीब 1 हजार चौपाल (Choupal) कार्यक्रम आयोजित करने का ऐलान किया है। वहीं कांग्रेस ने इसका मुकाबला करने के लिए उत्तर भारतीय पंचायत (Panchayat) कार्यक्रम को आयोजित करने की घोषणा की है।

    मंगलवार को मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष भाई जगताप ने आजाद मैदान स्थित पार्टी कार्यालय में इसके लांच की घोषणा की। उन्होंने कहा कि 6 जिलों में उत्तर भारतीय सम्मेलन आयोजित करने का काम शुरू कर दिया गया है। पहली बैठक पिछले रविवार को कालिना में हुई थी। आगे भी इस कार्यक्रम को अन्य विधानसभा क्षेत्रों में जारी रखा जाएगा। इस मौके पर में मुंबई कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष चरण सिंह सप्रा, कोषाध्यक्ष भूषण पाटिल, महासचिव संदेश कोंडविलकर, मुंबई युवा कांग्रेस अध्यक्ष जीशान सिद्दीकी, मुंबई कांग्रेस उपाध्यक्ष गणेश यादव, सूरज सिंह ठाकुर और सत्येंद्र सिंह मौजूद थे।

    बीजेपी ने किया उत्तर भारतीयों के साथ धोखा

    भाई जगताप ने कहा कि बीजेपी ने उत्तर भारतीयों को सिर्फ धोखा देने का काम किया है। उन्होंने कहा कि मामला हिंदी भवन का हो, या फिर इस समाज के लोगों को ओबीसी में शामिल करने का। बीजेपी ने अपने वादों को पूरा नहीं किया। जगताप ने विश्वास दिलाया कि कांग्रेस इन सभी वादों को पूरा करने का काम करेगी। उन्होंने कांग्रेस के कद्दावर उत्तर भारतीय नेता रहे राम मनोहर त्रिपाठी के नाम पर मुंबई में हिंदी भाषा भवन के काम को फिर से शुरू करने के लिए महाविकास आघाड़ी सरकार से पहल करने की भी बात कही है। जगताप ने कहा कि वे राज्य सरकार से मिल कर रिक्शा-टैक्सी चालकों के लिए बोर्ड बनाए जाने की भी मांग करेंगे, ताकि उन्हें भी इसके माध्यम से बीमा कवर मिल सके।

    उत्तर भारतीयों को बनाएंगे उम्मीदवार

    मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष जगताप ने कहा कि कांग्रेस उत्तर भारतीयों का इस्तेमाल सिर्फ वोट बैंक की तरह नहीं करेगी, बल्कि जिन क्षेत्रों में उनके समाज का दबदबा है। वहां से उत्तर भारतीय नेता को ही बीएमसी चुनाव में उम्मीदवार बनाया जाएगा। हालांकि टिकट देने के प्रतिशत या फिर किसी तरह के आंकड़ों का उन्होंने खुलासा नहीं किया। जगताप ने कहा कि मुंबई में उत्तर भारतीयों को सबसे ज्यादा मौके कांग्रेस ने दिए हैं। उन्होंने पार्टी छोड़ कर जाने वाले नेताओं से वापस घर में लौट आने की भी अपील की।  

    कई उत्तर भारतीय नेता रहे नदारद 

    लांचिंग उत्तर भारतीय से जुड़े पंचायत कार्यक्रम का था, लेकिन इस कार्यक्रम से कई उत्तर भारतीय नेता नदारद रहे। खास तौर मुंबई कांग्रेस के उत्तर भारतीय सेल के अध्यक्ष यशवंत सिंह, कार्याध्यक्ष अवनीश सिंह, उपाध्यक्ष वीरेन्द्र उपाध्याय, सीनियर उपाध्यक्ष शिवजी सिंह, महासचिव संदीप शुक्ला, सचिव इंदु प्रकाश तिवारी समेत कई नेता मौजूद नहीं थे। उत्तर भारतीय समाज के कद्दावर नेता और पूर्व मंत्री नसीम खान, मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम भी इस कार्यक्रम में दिखाई नहीं दिए। कुछ नेताओं ने बताया कि उन्हें इस कार्यक्रम की कोई सूचना नहीं दी गई थी।