शिवसेना नेता संजय राउत (Photo Credits-ANI Twitter)
शिवसेना नेता संजय राउत (Photo Credits-ANI Twitter)

    मुंबई: शिवसेना (Shiv Sena) प्रवक्ता संजय राउत (Sanjay Raut) ने बीजेपी (BJP) के पूर्व सांसद किरीट सोमैया (Kirit Somaiya) के खिलाफ एक और नया खुलासा करते हुए नेशनल स्पॉट एक्सचेंज लिमिटेड (एनएसईएल) घोटाले (NSEL Scam) में पैसे की उगाही का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है किरीट सोमैया ने सबसे पहले एनएसईएल के 5600 करोड़ रुपए के शेयर घोटाले की जांच की मांग की थी। ईडी ने इस मामले में स्टॉक ब्रोकिंग फर्म मोतीलाल ओसवाल कंपनी (Motilal Oswal Company) के खिलाफ जांच भी की थी। 

    राउत ने कहा है कि इसके बाद साल 2018-19 के दौरान मोतीलाल ओसवाल से सोमैया के एनजीओ युवक प्रतिष्ठान को लाखों रुपए के चंदे मिले हैं। उन्होंने कहा है कि किरीट सोमैया के इस पूरे खेल को समझने की जरुरत है। राउत ने कहा कि सोमैया का एनजीओ एक तरह से ब्लैक मनी को वाइट करने की संस्था बन गई है।  

    जांच के दायरे में आई कंपनियों पर नजर

    शिवसेना प्रवक्ता राउत ने कहा कि किरीट सोमैया एक खास रणनीति के तहत उन कंपनियों को निशाना बनाते हैं, जो जांच एजेंसियों के रडार पर होती हैं। उन्होंने कहा कि सोमैया के एनजीओ को करीब 170 से अधिक ऐसी कंपनियों से चंदा मिला है, जिनकी कारोबारी गतिविधियां संदिग्ध है या फिर जिनके खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और सीबीआई की जांच चल रही है।

    बीजेपी के 28 नेताओं पर नजर

    शिवसेना प्रवक्ता राउत ने कहा है कि अभी यह शुरुआत है। उन्होंने कहा कि बीजेपी के 28 नेता उनके रडार पर है। सांसद संजय राउत ने कहा कि बीजेपी नेताओं के करप्शन के खुलासे का सिलसिला आगे भी जारी रहेगा। हालांकि अभी शिवसेना नेता ने बीजेपी के उन नेताओं के नाम का खुलासा नहीं किया है, जो उनके टारगेट पर हैं। हालांकि राउत ने यह नया बम फोड़ कर बीजेपी खेमे में खलबली जरुर मचा दी है।