Drone surveillance RAILWAY

    मुंबई: मुंबई (Mumbai) में त्योहारी सीजन को देखते हुए पश्चिम रेलवे (Western Railway) स्टेशनों पर होने वाली भीड़ को नियंत्रित करने, हादसों को रोकने और ट्रैक मॉनिटरिंग (Track Monitoring) के लिए सर्विलांस ड्रोन (Surveillance Drone) का सहारा लेने जा रही है। इस सर्विलांस ड्रोन के जरिए रेलवे (Railway) को न सिर्फ स्टेशनों पर हो रही भीड़ को कंट्रोल करने में मदद मिलेगी, बल्कि भगदड़ या अन्य प्रकार के हादसों को रोकने में काफी मदद मिलेगी। 

    इसी भीड़ को मैनेज करने और इसके चलते हादसों को टालने के लिए सर्विलांस ड्रोन के जरिए पश्चिम रेलवे नजर रखेगी। जिस ड्रोन का इस्तेमाल रेलवे करेगी, वह ग्राउंड लेवल से 200 मीटर की ऊंचाई पर 2 किमी की दूरी तक 25 मिनट की उड़ान भरने में सक्षम है।इतना ही नही,यह जीपीएस आधारित ऑटो वे पॉइंट नेविगेशन सिस्टम इसे ऑटो टेक ऑफ,मार्गदर्शन और लैंडिंग करने में मदद करता है। 

    आरपीएफ को ट्रेनिंग भी दी गई 

    ज्यादा भीड़भाड़ वाले स्टेशनों मुम्बई सेंट्रल, बांद्रा, अंधेरी और बोरीवली में किया जाएगा और इसके लिए बाकायदा आरपीएफ को ट्रेनिंग भी दी गई है। सीपीआरओ सुमित ठाकुर के अनुसार, भीड़ नियंत्रित करने और हादसों के टालने के अलावा इस सर्विलांस ड्रोन का इस्तेमाल रेलवे यार्ड, ट्रैक व रेलवे परिसर में संवेदनशीन स्थानों पर निगरानी रखने के लिए भी किया जाएगा, ताकि समय रहते किसी भी अपराध को होने से रोका जा सके।