विदेशों से मुंबई में ड्रग्स सप्लाई के दो नए रूट्स का हुआ खुलासा

    मुंबई: मुंबई नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने विदेशों से मुंबई (Mumbai) में सप्लाई होने वाली हाई क्वालिटी कोकीन के दो नए रूट्स का भंडाफोड़ किया है। ड्रग्स सप्लाई (Drugs Supply) के इन दो नए रूट्स का सुराग एनसीबी को अरमान कोहली ड्रग्स मामले की जांच के दौरान मिला और जब तह तक जाकर एनसीबी ने इसकी जांच की तो पता चला कि इन दो नए रूट्स के जरिए ही हाई प्रोफाइल ड्रग पेडलर अजय राजू सिंह उर्फ मामू और उसके विदेशी ड्रग्स पैडलर मुंबई में कोकीन की खेप मुंबई में लेकर आते थे और फिर उसकी सप्लाई बॉलीवुड (Bollywood) सहित कई हाई प्रोफाइल लोगों को की जाती थी।

    दरअसल ड्रग्स मामले में जब एनसीबी ने अभिनेता अरमान कोहली को गिरफ्तार किया था तो उस वक़्त उनके घर से साउथ अमेरिकन कोकीन बरामद हुई थी और इस रैकेट के इंटरनेशनल ड्रग्स कनेक्शन होने के सुराग मिले थे। मिले सुरागों और आरोपियों से पूछताछ के आधार पर जब एनसीबी ने अपनी तहकीकात जब आगे बढ़ाई तो विदेशों से मुंबई में कोकीन तस्करी के दो नए रूट्स का पर्दाफाश हुआ। 

    दो नए रूट्स का चला पता

    एनसीबी ने जिन दो नए रूट्स का पर्दाफाश किया, उसमें पहला रूट है कोलंबिया-पेरू-साउथ अफ्रीका और फिर वहां से मुंबई। दरअसल साउथ अफ्रीकी देश कोलंबिया उच्च क्वालिटी कोकीन का हब माना जाता है। यहीं से ड्रग्स पेरू के रास्ते होते हुए साउथ अफ्रीका पहुंचती हैं और फिर वहां से विदेशी ड्रग्स पैडलर कोकीन की खेप को पेट में छिपाकर हवाई मार्ग के जरिए मुंबई लाते थे। इस रूट का इस्तेमाल अरमान कोहली ड्रग्स केस में हाई प्रोफाइल ड्रग पेडलर अजय राजू सिंह उर्फ मामू कर रहा था। इसके साथ ही विदेशी ड्रग्स पेडलर्स को भी एनसीबी ने गिरफ्तार किया है। इतना ही नहीं, एक विदेशी ड्रग्स पेडलर के पेट से 10 करोड़ की कोकीन एनसीबी ने बरामद की थी,दूसरा रूट है कोलंबिया -इथोपिया-ब्राजील-दिल्ली और फिर वहां से मुंबई।इस रूट का भी इस्तेमाल ड्रग्स पेडलर अजय राजू सिंह उर्फ मामू और उसके विदेशी ड्रग्स पैडलर लगातार मुंबई में कोकीन की खेप सप्लाई करने के लिए कर रहे थे। एनसीबी के मुताबिक, इन दोनों रूट्स से कोकीन की खेप मुंबई पहुंचने के बाद अजय राजू सिंह उर्फ मामू इसकी सप्लाई अपने अलग-अलग ड्रग्स पेडलरों के जरिए अरमान कोहली सहित बॉलीवुड और टीवी जगत से जुड़े तमाम लोगों और कई अन्य हाई प्रोफाइल लोगों तक पहुंचाता था। एनसीबी का दावा है कि इन दोनों रूट्स के जरिए करीब 5 सालों में करोड़ों की ड्रग्स की सप्लाई मुंबई में मामू कर चुका है।

    इस तरह होती थी ड्रग्स की सप्लाई

    मुंबई एनसीबी के जॉइंट डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने बताया कि जांच के दौरान हमें विदेशों से कोकीन तस्करी होने के दो नए रूट्स का पता चला और इन्ही सुरागों के आधार हमने नालासोपारा और आरे इलाके में छापेमारी करके कई विदेशी ड्रग्स तस्करों को गिरफ्तार किया। इन दोनों रूट्स से विदेशी ड्रग्स पैडलर पेट में छुपाकर कोकीन की खेप मुंबई लाते थे और फिर उसकी सप्लाई हाई प्रोफाइल लोगों में की जाती थी। हम फिलहाल इस पूरे रूट्स के तह तक जाकर उसे खत्म करने में लगे हुए हैं।