GMCH

    नागपुर. मंगलवार की शाम को शासकीय वैद्यकीय महाविद्यालय व अस्पताल के अस्थिरोग विभाग के ऑपरेशन थियेटर में उस वक्त तनाव पूर्ण स्थिति निर्माण हो गई, जब एक निजी सर्जिकल सप्लायर ने ड्यूटी पर तैनात ब्रदर को तमाचा जड़ दिया. बात केवल तमाचा जड़ने तक ही सीमित नहीं रही, बल्कि हाथापाई भी हो गई. मामले की जानकारी मिलते ही सभी नर्से अधिष्ठाता कार्यालय में जमा होकर नारेबाजी करने लगे. देर रात संबंधित व्यक्ति के खिलाफ अजनी पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया.

    परिचारिका संगठन के सचिव शहजाद बाबा खान ने बताया कि शाम करीब 5 बजे के दौरान ऑर्थो की ओटी में ब्रदर कमलेश ताजने और नितिन बेलखोड़े ड्यूटी पर तैनात थे. इस दौरान एक्स सर्जिकल सप्लायर कंपनी का कर्मचारी सलमान पठान वहां आया, लेकिन वह बिना पूछताछ किए और जूते निकाले बिना सीधा ओटी में चला गया. इस पर ब्रदर ताजने ने उसे रोका, क्योंकि ओटी में बिना यूनिफॉर्म और जूते पहनकर नहीं जा सकते. इस पर सलमान ने ताजने से साथ गाली-गलौज की. जब बहस होने लगी तो सलामान ने तमाचा जड़ने के साथ ही हाथापाई भी शुरू कर दी. 

    कुछ देर बंद रहा काम 

    ताजने ने घटना की जानकारी संगठन के पदाधिकारियों को दी. सभी नर्से कुछ ही देर में अधिष्ठाता कार्यालय के सामने एकत्रित होकर नारेबाजी करने लगे. कुछ देर के लिए वार्डों में नर्सों ने काम बंद कर दिया. तुरंत घटना की जानकारी अधिष्ठाता को दी गई. साथ ही वैद्यकीय अधीक्षक डॉ.अविनाश गावंडे, उप अधीक्षक डॉ. कांचन वानखेड़े भी पहुंच गये.

    संगठन की ओर से  मारपीट करने वाले के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज करने की मांग की जाने लगी. साथ ही नर्सों को सुरक्षा मुहैया कराने की भी मांग की गई. काफी देर तक चले तनाव के बाद अधिकारियों सहित संगठन पदाधिकारियों ने अजनी पुलिस में सलमान पठान के खिलाफ मामला दर्ज कराया. इस घटना के बाद नर्सों के संगठन की ओर से एक बार फिर सुरक्षा मुहैया कराने की मांग बढ़ने लगी है. साथ ही मेडिकल में निजी कंपनियों के लोगों की बढ़ती सक्रियता भी सामने आ गई है.

    इस समूचे मामले की जांच की जाएगी. संबंधित व्यक्ति के खिलाफ अजनी थाने में मामला दर्ज किया गया है. भविष्य में इस तरह की घटनाएं न हो, इसके लिए सख्त उपाय योजना की जाएगी.

    – डॉ. सुधीर गुप्ता,अधिष्ठाता मेडिकल.