E-vehicle
File Pic

Loading

नासिक: केंद्र सरकार (Central Government) द्वारा घोषित इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) नीति के अंतर्गत नासिक महानगरपालिका (Nashik Municipal Corporation) ने शहर में 106 जगह चार्जिंग स्टेशन के लिए निश्चित किए गए है। शहर में चार्जिंग स्टेशन (Charging Stations) निर्माण के लिए टाटा, रिलायंस सहित देशभर की अंतरराष्ट्रीय कंपनियों (International Companies) ने प्रतिसाद दिखाया है। 

इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग के लिए पहली बार नासिक महानगरपालिका में अंतर राष्ट्रीय स्तर पर काम करने वाली कंपनियों ने काम करने की तैयारी दिखाई है, जो अपने आप में एक बड़ी बात है। इसके पीछे नासिक में इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या बढ़ने की बात की जा रही है। बता दें कि पारंपरिक ईंधन पर होने वाला खर्च, इसके चलते बढ़ रही महंगाई और वाहनों की जरूरत को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहन देने की नीति अपनाई है। 

महानगरपालिका ने 22 जगह पर चार्जिंग स्टेशन शुरु करने के लिए सूची बनाई 

इलेक्ट्रिक वाहनों का प्रोत्साहन देते समय उतनी ही मात्रा में चार्जिंग स्टेशन की जरूरत महसूस होगी। इसलिए महत्वपूर्ण शहरों में केंद्र सरकार ने चार्जिंग स्टेशन बनाने के लिए निधि देने का निर्णय लिया है। महानगरपालिका ने 22 जगह पर चार्जिंग स्टेशन शुरु करने के लिए सूची बनाई है। तो नेशनल क्लीनर पॉलिसी के अंतर्गत (एन-कॅप) 35 जगह पर चार्जिंग स्टेशन शुरु किए जाएंगे। पहले चरण में 57 जगह पर चार्जिंग स्टेशन शुरु किए जाएंगे। ‘इवी’ स्टेशन शुरु करने के लिए महानगरपालिका के विद्युत विभाग ने टेंडर प्रक्रिया कार्यान्वित की हैं। 

17 मई को लिया जाएगा निर्णय

प्री बीड मीटिंग में अंतर राष्ट्रीय स्तर पर काम करने वाली कंपनियों ने नाशिक में काम करने की तैयारी दिखाई है, जिसमें टाटा पावर टायर रेक्स ट्रांसमिशन प्रायवेट लिमिटेड, एनर्जी सोल्यूशन्स, रिलायंस जियो बीपी बग, इनोझा लिमिटेड, निना हंड्स इविगो चार्ज प्राईवेट लिमिटेड, रेशनसॅन टेक इलेक्ट्रिकल्स, राजसन इलेक्ट्रॉनिक्स, एस एंड टी प्राईवेट लिमिटेड, पुनम वेंचर्स इंडिया प्राईवेट लिमिटेड, यूनिक एंटरप्राइजेस, लॅब्स डब्ल्यू बीआई इंडस्ट्रीज आदि कंपनियां शामिल है। 17 मई का इस बारे में निर्णय होगा।

पहले चरण में 20 चार्जिंग स्टेशन शुरु करने के लिए अंतर राष्ट्रीय स्तर पर काम करने वाली कंपनियों ने तैयारी दिखाई है, जो नासिक वासियों के लिए बड़ी बात है। इसके चलते नासिक शहर में इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग बढ़ने की बात स्पष्ट हो गई है।

-उदय धर्माधिकारी, अधीक्षक अभियंता, विद्युत विभाग, नासिक महानगरपालिका