Pak raises the concern of Indian exporters, cheap Pakistani onions came in the international market
File Photo

    नाशिक. गर्मी के प्याज (Onion) का दाम (Prices) 40 से 42 रुपए किलो तक पहुंच गया था, इसी बीच निर्यात बंदी की अफवाह शुरू हो गई जिससे प्याज की कीमत में गिरावट शुरू हो गई। सुबह के सत्र में क्विंटल के दाम एक हजार रुपए से कम हुए। ऐसे में भंडारण (Storage) किए गए गर्मी के प्याज की आवक बढ़ने से दोपहर के सत्र में प्याज के दाम ओर कम हो गए। कुल मिलाकर दिनभर क्विंटल के दाम 500 रुपए से कम हो गए। 

    उधर मुंबई (Mumbai) में प्याज के दाम प्रति क्विंटल एक हजार रुपए बढ़ गए। औसतन 2,050 रुपए क्विंटल दाम से प्याज बेचा गया, जिसे 3,000 रुपए दाम मिला। दक्षिण के साथ राजस्थान और मध्य प्रदेश से नए प्याज की आवक बढ़ने के लिए 15 दिनों का समय लगने वाला है। तब तक नाशिक (Nashik) में भंडारण किए गए गर्मी के प्याज को देश में मांग रहेगी। अधिक दाम के लिए बड़े तौर पर प्याज बिक्री के लिए लाया गया तो दाम गिरने की संभावना व्यक्त की जा रही है। देश में प्याज की मांग बढ़ने से निर्यात की ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

    क्विंटल के पीछे कम हुआ 700 रुपए

    मनमाड़ में औसतन दाम क्विंटल के पीछे 700 रुपए तक कम हुए। सोमवार की तुलना में आज किसानों को कलवण में 450, चांदवड़ में 50, सटाणा में 125, नामपुर में 250 रुपए दाम कम मिला। लासलगांव में प्याज के दाम स्थिर थे। पिंपलगाव में 164 तो देवला में 100 रुपए औसतन दाम अधिक मिला। लासलगांव में नए लाल प्याज के दाम क्विंटल के पिछले औसतन 60 रुपए अधिक हो गए हैं। लासलगांव में नए लाल प्याज को सोमवार को औसतन क्विंटल को 2,340 रुपए दाम मिला। आज प्याज को 2,401 रुपए क्विंटल दाम मिला। निर्यातदारों ने कर्नाटक से नए प्याज की खरीदी 2500 रुपए से की, जिसे जिले में लाकर फिलीपाईन्स के लिए 580 डॉलर प्रति टन इस दाम से निर्यात किया जाएगा।