Six workers injured due to heavy explosion in factory, loss of lakhs

    सातपुर. औद्योगिक एस्टेट (Industrial Estate) में हाइड्रोलिक सिलेंडर (Hydraulic Cylinder) बनाने वाली ललित हाइड्रोलिक सिस्टम फैक्ट्री (Hydraulic System Factory) में जोरदार धमाका (Explosion) हुआ। विस्फोट में छह मजदूर घायल हो गए और उनमें से एक की हालत गंभीर बनी हुई है। दो श्रमिकों को रविवार को जिला सरकारी अस्पताल से छुट्टी दे दी गई, चार घायलों को आगे के इलाज के लिए मुंबई स्थानांतरित कर दिया गया है। कंपनी पर लापरवाही के आरोप में सातपुर पुलिस ने कंपनी को सील कर दिया है।

    विस्फोट की घटना से सातपुर औद्योगिक क्षेत्र में हड़कंप मच गया है। इस बीच, दमकल अधिकारियों ने कहा कि परीक्षण के दौरान नाइट्रोजन सिलेंडर में विस्फोट हो सकता है। इंडस्ट्रियल एस्टेट में कामगार नगर के पास प्लॉट नंबर डी-71 स्थित फैक्ट्री में ऑयल प्रेशर सिलेंडर का निर्माण होता है। शनिवार की शाम को 11 नाइट्रोजन सिलेंडर परीक्षण कर्मचारी कारखाने में एक साथ काम कर रहे थे, जब सिलेंडर की दीवार अचानक फट गई। विस्फोट में छह मजदूर गंभीर रूप से झुलस गए हैं। बिस्फोट इतना शक्तिशाली था कि फॅक्टरी के सारे पत्रे उड़ गए।

    वहीं खिड़की के शीशे सड़क पर फैल गए। स्फोट की आवाज सुनकर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे। घायल मजदूर मदद की गुहार लगा रहे थे। समय पर एंबुलेंस नहीं पहुंचने पर जागरुक नागरिक संदीप काले, रमेश धात्रक और अमोल बच्छाव को निजी वाहन से सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए पहुंचाया गया। बिस्फोट की सूचना मिलते ही दमकल की गाड़ी मौके पर पहुंची और बचाव कार्य शुरू किया। सातपुर थाने के वरिष्ठ निरीक्षक किशोर मायरे के साथ दमकल विभाग ने आग पर काबू पाया। इस घटना में देवीदास पवार, चंद्रकांत निमसे, सूरज पाखले, लखन पांडे, राम कुमार और कृष्ण मुरारी गंभीर रूप से घायल हो गए।