Pimpri Chinchwad Municipal Corporation

    पिंपरी. महामारी कोरोना (Pandemic Corona) का प्रकोप भले ही कम हो गया हो लेकिन इसका खतरा (Danger)अभी भी मंडरा रहा है। इसके चलते पिंपरी चिंचवड़ महानगरपालिका (Pimpri Chinchwad Municipal Corporation) ने 10 करोड़ रुपए की कोरोना निधि को 250 करोड़ रुपए तक बढ़ाने का फैसला किया है। महानगरपालिका की सर्वसाधारण सभा में हुए इस फैसले के अनुसार अब कोरोना निधि 260 करोड़ रुपए की हो गई है।

    बैरहाल जारी वित्त वर्ष के पहले चार माह की समाप्ति से पूर्व ही महानगरपालिका के सत्तादल भाजपा ने बजट का खेल-खिलवाड़ शुरू कर दिया है। इस सभा में 344 करोड़ 70 लाख रुपए के बजट आवंटन (Budget Allocation) वर्गीकरण को मंजूरी दी गई। साल 2021- 2022 वित्त वर्ष के लिए महानगरपालिका का मूल बजट 5588.78 करोड़ रुपए है वहीं, केंद्र और राज्य सरकार की पुरस्कृत योजनाओं समेत कुल 7112.1 करोड़ रुपए का बजट मंजूर किया गया है, जिसकी अमलबाजी शुरू है।अगले साल महानगरपालिका के आम चुनाव होने हैं इस लिहाज से यह बजट काफी अहम है। तब भी सत्तादल भाजपा के नेताओं ने बजट का खिलवाड़ बनाकर रख दिया है।

    हर सभा में उप प्रस्तावों के जरिये बजटीय आबंटन वर्गीकरण किये जा रहे हैं। कल संपन्न हुई सर्वसाधारण सभा में 344 करोड़ 70 लाख 45 हजार 764 रुपए के आबंटन वर्गीकृत किये गए। इस सभा में 55 लाख रुपए के बजट वर्गीकरण के मूल प्रस्ताव पर प्रभाग स्तरीय योजनाओं से लेकर स्मार्ट सिटी व उड़ान पुलों के आबंटन घटाने के उपप्रस्ताव पेश और मंजूर किये गए। महानगरपालिका आयुक्त राजेश पाटील ने जारी वित्त वर्ष के बजट में कोरोना निधि के लिए 10 करोड़ रुपए आवंटित किये थे जिसे अपर्याप्त बताकर सत्तादल ने 250 करोड़ तक बढ़ा दिए हैं। वहीं भूमि अधिग्रहण और मिल्कियत सर्वेक्षण के लिए 40- 40 करोड़ रुपए का आवंटन वर्ग किया गया है।