Twin Towers
file

    पुणे: पुणे महानगरपालिका (Pune Municipal Corporation) की जमीनों (Lands) के जरिए कमाई के नए स्रोत खोजने के लिए पीएमसी (PMC) लगातार प्रयास कर रही है। इन्हीं प्रयासों के तहत सातारा रोड़ (Satara Road) पर के.के. मार्केट (K.K. Market) के पास स्थित ट्रक टर्मिनस (Truck Terminals) की जगह पर ट्विन टॉवर (Twin Towers)बनाकर नर्सिंग कॉलेज, हॉस्पिटल और कमर्शियल कॉम्प्लेक्स बनाने को लेकर प्राथमिक स्तर पर चर्चा जारी है। इसकी जानकारी पीएमसी के सूत्रों ने दी है। 

    सातारा रोड पर धनकवड़ी स्थित शंकर महाराज मठ के पास लगभग 25 हजार 732 वर्ग मीटर की ट्रक टर्मिनन्स की जमीन है। सातारा रोड के चौड़ी में बाधित होने वाले पर्वती दर्शन के व्यवसायियों का पुनर्वास भी टर्मिनस के अहाते में ही किया गया है। इस जगह पर पीएमसी की सेवाएं देने के साथ-साथ इस जगह का इस्तेमाल व्यावसायिक तौर पर करने को लेकर कुछ विकल्प सामने आए हैं। इसमें पीपीपी अथवा अन्य माध्यमों से ट्विन टॉवर बनाने का प्रस्ताव सामने आया है।

    1 लाख 29 हजार 900 वर्ग मीटर में होगा कंस्ट्रक्शन

    के.के. मार्केट जैसे कमर्शियल कॉम्प्लेक्स के पास ही यह जगह होने के कारण एक बिल्डिंग में नर्सिंग कॉलेज और हॉस्पिटल शुरू करने की योजना है। साथ ही एक बिल्डिंग के कमर्शियल इस्तेमाल के लिए विकसित करने का भी प्लान है। 

    राजस्व बढ़ाने की कवायद

    महानगरपालिका द्वारा मुख्य रूप से अपनी खुद की और प्राइम लोकेशन पर स्थित लैंड बैंक का उपयोग करते हुए नागरी सुविधाओं के साथ साथ आय प्राप्त करने के लिए विभिन्न तरीके अपनाए जा रहे हैं। इससे मौजूदा व्यवसायियों के पुनर्वास के साथ ही बड़े पैमाने पर ऑफिसेज और व्यावसायिक दुकानें बनाना संभव होगा। सड़क चौड़ीकरण और खुली जगहों को छोड़कर इस जगहों पर फ्री एफएसआई, प्रीमियम एफएसआई, टीडीआर और एन्सिलरी एफएसआई का इस्तेमाल करते हुए 1 लाख 29 हजार 900 स्क्वायर मीटर का कंस्ट्रक्शन होने का अनुमान जताया जा रहा है।

    निजी संस्था ने पेश किया प्रस्ताव

    मौजूदा व्यवसायियों के लिए 7 प्रतिशत, बिल्डर के लिए 8 प्रतिशत, नर्सिंग कॉलेज के लिए 10 प्रतिशत, हॉस्पिटल के लिए 35 प्रतिशत और व्यावसायिक बिल्डिंगों के लिए 39 प्रतिशत एरिया का इस्तेमाल होने की संभावना जताने वाला प्राथमिक प्लान एक निजी संस्था ने प्रस्तुत किया है। सूत्रों ने बताया कि इस प्लान पर हाल ही में प्रशासन और संबंधित संस्था के प्रतिनिधियों की प्राथमिक बैठक भी संपन्न हुई।