टीका नहीं लेने वाले नागरिक नहीं कर सकेंगे टीएमटी की यात्रा, महापौर और कमिश्नर का नया फरमान

    ठाणे : ठाणे शहर (Thane City) में अब कोरोना (Corona) का संक्रमण (Infection) एकदम कम हो चुका है, और अब स्थिति सामान्य हो चुकी है। लेकिन तीसरी लहर की संभावना अभी भी बनी हुई है। लेकिन इसके बावजूद लोग कोरोना टीकाकरण (Corona    Vaccination) की तरफ आकर्षित होते नजर नहीं आ रहे है। आज भी महानगरपालिका क्षेत्र में तकरीबन साढ़े 5 लाख लोगों ने अब तक टीका नहीं लिया है। ऐसे में ठाणे महानगरपालिका प्रशासन ने ऐसे नागरिकों को अब टीएमटी (ठाणे परिवहन सेवा) (Thane Transport Service) की बसों में यात्रा की अनुमति नहीं देने का निर्णय लिया है। इस संदर्भ में महापौर नरेश म्हस्के और कमिश्नर डॉ. विपिन शर्मा ने संयुक्त रूप से कहा कि इस निर्णय को कड़ाई से लागू किया जाएगा और जल्द ही अमल में लाया जाएगा।

    गौरतलब है की पिछले कुछ दिनों से ठाणे महानगर पालिका क्षेत्र में कोरोना टीकाकरण को लेकर नागरिकों को रिस्पांस कम मिल रहा हैं। जबकि महानगर पालिका के माध्यम से लोगों को टीकाकरण कराने के लिए विभिन्न प्रकार का उपक्रम शुरू किया गया है। शहर के सभी प्रभाग समितियों में टीकाकरण केंद्र बनाया गया हैं। इतना ही नहीं महानगरपालिका प्रशासन ने ‘जम्बो टीकाकरण मुहिम’, ‘टीकाकरण ऑन व्हील’ और अब ‘हर घर दस्तक’ जैसे उपक्रम के माध्यम से नागरिकों का टीकाकरण किया जा रहा हैं। हलांकि महानगरपालिका प्रशासन द्वारा नागरिकों से टीकाकरण के संदर्भ में अफवाह पर विश्वास न करते हुए टीका लगाने का आवाहन भी किया जा रहा है।

    महापौर द्वारा भी नागरिकों से खुद का और परिवार के सदस्यों को टीका लगाकर स्वास्थ्य को सुरक्षित करने की अपील की गई थी। लेकिन इसके बावजूद नागरिकों की अपेक्षा से कम प्रतिसाद मिल रहा हैं। इसलिए अब महापौर नरेश म्हस्के और महानगरपालिका कमिश्नर डॉ. विपिन शर्मा ने फरमान जारी किया है कि जो नागरिक अब तक एक भी टीका नहीं लिए है ऐसे नागरिकों को अब ठाणे परिवहन सेवा (टीएमटी) के बसों में यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी और जल्द इसे अमल में लाने का निर्देश दोनों ने ठाणे परिवहन प्रशासन को दिया है। इस निर्णय से टीएमटी के बसों में यात्रा कर अपने ड्यूटी पर जाने वाले कर्मचारियों को आगामी दिनों में परेशानी का सामना करना पड़ सकता हैं।