today-in-history-December 29-Congress wins unprecedented Lok Sabha elections under the leadership of Rajiv Gandhi

    मुंबई. राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार (Rajiv Gandhi Khel Ratna Award) को मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार (Major Dhyanchand Khel Ratna Award) करने को लेकर कांग्रेस और मोदी सरकार (Modi Government) आमने-सामने हैं। कांग्रेस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) पर हमलावर है। वह लगातार कह रही है कि मोदी सरकार ने काम के नाम पर केवल योजनाओं के नाम बदले हैं। इसी बीच महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम से एक पुरस्कार देने की घोषणा की है, जो अगले साल से दिया जाएगा। यह जानकारी महाराष्ट्र सरकार में सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री सतेज पाटिल ने दी।

    पाटिल ने कहा, सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री के रूप में, मुझे यह घोषणा करते हुए बहुत खुशी हो रही है कि राज्य में सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली संस्थानों को प्रोत्साहित करने के लिए नियुक्त किया गया है। यह पुरस्कार राजीव गांधी के नाम पर अगले साल से हर साल 20 अगस्त को दिया जाएगा।

    पाटिल ने अगले ट्वीट में कहा, यह पुरस्कार स्वर्गीय राजीव गांधी को भारत में प्रौद्योगिकी क्षेत्र में उनके अग्रणी कार्य के लिए एक स्थायी श्रद्धांजलि होगी।

    विदित हो कि, टोक्यो ओलंपिक 2020 (Tokyo Olympics 2020) में भारतीय खिलाडियों ने शानदार प्रदर्शन दिखाया। जिसके बाद देश में जश्न का माहौल है। वहीं टोक्यो ओलंपिक का समापन होने के बाद देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से राजीव गांधी का नाम हटाकर मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार रखने की घोषणा कर दी। सरकार के निर्णय से कांग्रेसियों में रोष है।