जिले के छोटे-बड़े 20 प्रकल्प लबालब, तटीय इलाकों में सतर्कता बरतने की चेतावनी, 24 घंटे में 21.7 मिमी बारिश की गई दर्ज

वर्धा. गत सप्ताहभर से जिले में रुक-रुककर बारिश हो रही है. इस बीच पिछले चौबीस घंटे में 21.7 मिमी वर्षा दर्ज की गई. इसमें वर्धा, हिंगनघाट, सेलू व देवली तहसील में धुआंधार बारिश हुई. दमदार वर्षा से जिले के छोटे और बड़े 20 जलाशय शतप्रतिशत भर चुके है़.  प्रकल्पों से पानी छोड़े जाने के कारण तटीय इलाकों में सतर्कता बरतने की चेतावनी दी गई है. इस बार जिले में मानसून देरी से पहुंचा. परिणामवश खेतीबाडी के काम भी प्रभावित हो गए थे. बुआई के काम भी देरी से हुए. जून के अंत में बारिश की शुरुआत हुई. पिछले ढाई माह में जिले में रुक रुककर बारिश हुई़  इस बीच तीन बार अतिवृष्टि दर्ज की गई. फलस्वरुप प्रकल्पों का जलस्तर बढ़ गया है. अगस्त में काफी कम बारिश हुई. सितंबर के पहले सप्ताह में हुई वर्षा के कारण किसानों ने राहत की सांस ली है. वहीं फसलों के साथ साथ जलाशयों को भी संजीवनी मिली है.

आगामी दिनों में लगातार बारिश रहेगी

जिले में मध्यम व बड़े 11 प्रकल्प है, जबकि छोटे 21 प्रकल्प है. अधिकांश प्रकल्प शतप्रतिशत भर चुके है़. फलस्वरुप भविष्य में जिले में पेयजल की समस्या नहीं खलने की बात कही जा रही है. फिलहाल बड़े-मध्यम प्रकल्पों में कुल 85.2 प्रश जलभंडारण है. वहीं छोटे प्रकल्पों में 93 प्रश जलभंडारण बताया गया. आगामी दिनों में मौसम विभाग ने बारिश के आसार जताये है़ं  कुछ प्रकल्प ओवरफ्लो होकर बह रहे है़ं  परिणामवश तटवर्तीय गांवों में सतर्कता बरतने की चेतावनी प्रशासन ने दी है. 

11 प्रकल्पों में 85.2 प्रश जलभंडारण

बड़े और मध्यम 11 प्रकल्पों में धाम, पोथरा, पंचधारा, डोंगरगांव, मदन प्रकल्प, मदन उन्नई, वर्धा कार नदी व सुकली लघु प्रकल्प शतप्रतिशत भर चुके है़ं  वहीं लाल नाला 96.13 प्रश, बोर 90.81 प्रश व निम्न वर्धा में 71.36 प्रश जलभंडारण बताया गया. 

11 छोटे प्रकल्पों में हाउसफुल की स्थिति

21 छोटे प्रकल्पों में 93 प्रश जलभंडारण है. इसमें कवाडी, पांजरा बोथली, टेंभरी, उमरी, आंजी बोरखेड़ी, दहेगांव गोंडी, रोठा-1, रोठा-2, पिलापुर, कन्नमवारग्राम व शिरुड शतप्रतिशत भर चुके है़. वहीं सावंगी में 71.03 प्रश, लहादेवी 79.81 प्रश, पारगोठान 72.60 प्रश, अंबाझरी 76.71 प्रश, कुर्हा 94.74 प्रश, आष्टी 72.67 प्रश, परसोडी 70.31 प्रश, मलकापुर 96.04 प्रश, हराशी 78.18 प्रश, टाकली बोरखेड़ी प्रकल्प में 95.55 प्रश जलभंडारण है.