Kidnapping
FILE PHOTO

Loading

हिंगणघाट (त. सं.). म्हाड़ा कालोनी के नागरिक सड़क, पानी और स्ट्रीट लाइट जैसी बुनियादी सुविधाओं से वंचित है. जिससे रोष व्याप्त म्हाड़ा परिसर के नागरिकों ने ठेकेदार को बंदी बनाकर प्रशासन के प्रति रोष व्यक्त किया़ अंतत: पुलिस ने मध्यस्थता करने से 5 घंटे के बाद ठेकेदार को रिहा किया गया है.

म्हाडा बिल्डिंग के घर बेचने और रखरखाव करने वाले ठेकेदार को रात में कार्यालय परिसर में बंदिस्त कर दिया गया था़ ठेकेदार द्वारा बिल का भूगतान न करने के कारण यहा रहने आए 25 निवासियों के घरों के बिजली और पानी के कनेक्शन काट दिए गए थे. इस पर निवासियों ने आक्रोश जताया था. यहा लगभग 500 घरों वाली म्हाड़ा इमारत है और यहा रहने के लिए आनेवाले लोगों की संख्या कम हैं. यहा आनेवालों को कोई सुविधा नहीं दी गई. ठेकेदार की लापरवाही के कारण बिजली व नल कनेक्शन काट दिया गया. जिस वजह से ठेकेदार को बंदी बनाकर अपनी समस्या की ओर नागरिकों ने ध्यानाकर्षण किया.

म्हाड़ा कालोनीवासियों ने ठेकेदार जीतेंद्र कामत से जवाब मांगा़ स्थानीय नागरिक पिछले कुछ दिनों से पानी और बिजली से वंचित है़ हिंगनघाट में नवनिर्मित म्हाड़ा भवन में बांटे गए घर मे निवासी रहने आए थे़ लेकिन यहा कोई सुविधाएं नहीं होने के कारण नागरिक पिछले कुछ दिनों से अधिकारियों और ठेकेदारों से शिकायत कर रहे थे़ ठेकेदार पर लगातार अनदेखी किए जाने का आरोप इस दौरान लगाया जा रहा था.