लोगों को गुणवत्तापूर्ण जल उपलब्ध कराके देने के लिए जल जीवन मिशन, जिप अध्यक्ष चंद्रकांत ठाकरे

    वाशिम. ग्रामीण भागों के प्रत्येक घर में स्वच्छ, गुणवत्तापूर्ण व आवश्यक प्रमाण में जल उपलब्ध कराके देने के लिए जल जीवन मिशन योजना चलायी जा रही है़  यह योजना अधिक प्रमाण में सफल होने के लिए जलापूर्ति प्रणाली की खामी दूर करे़  जल स्त्रोत का विकास, भंडारण और पूरक पानी के स्त्रोत निर्माण करने के साथ ही पुनर्भरण व मजबूतीकरण करना आवश्यक रहने का प्रतिपादन जिला परिषद के अध्यक्ष चंद्रकांत ठाकरे ने किया है.

    जल जीवन मिशन के अंतर्गत प्रशिक्षण का उद्घाटन के समय ठाकरे बोल रहे थे़  स्थानीय लाखाला स्थित तिरुपती लान्स में प्रमुख संसाधन संस्था कृषि विकास व ग्रामीण प्रशिक्षण संस्था की ओर से वाशिम, मालेगांव और रिसोड तहसील के जिन गांवों में जलापूर्ति योजना का प्रारुप स्वीकृत है़  ऐसे कुल 15 गांवों के 75 लोगों के ग्रामस्तरीय 4 दिन के निवासी प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया है़  

    चंद्रकांत ठाकरे ने कहा कि जल जीवन मिशन योजना से प्रशिक्षण लिए हुए प्रशिक्षणार्थियों को मास्टर ट्रेनर्स करके जिले के अन्य गांवों में भेजने का नियोजन है. इस माध्यम से जिले के सभी गांव के जलापूर्ति योजना अधिक मजबूत व शाश्वत की जानेवाली है़  इस अवसर पर ग्रामीण जलापूर्ति विभाग के कार्यकारी अभियंता अतुल सालुंखे, कृषि विकास व ग्रामीण प्रशिक्षण संस्था के सीईओ अमित नाफडे ने अपने विचार व्यक्त किए.

    इस अवसर पर मंगरुलपीर पंस के पूर्व सभापति भास्कर पाटिल शेगीकर, जल जीवन मिशन के प्रकल्प संचालक गजानन वेले, सचिन कुलकर्णी आदि उपस्थित थे. प्रास्ताविक जल जीवन मिशन के  मनुष्यबल विकास सलाहकार शंकर आंबेकर, आभार प्रदर्शन कृषि विकास संस्था के प्रशिक्षण समन्वयक सुदर्शन पवार ने किया.

    जल जीवन मिशन प्रशिक्षण पुस्तिका विमोचित 

    कार्यक्रम में जि. प. अध्यक्ष चंद्रकांत ठाकरे के हाथों जल जीवन मिशन के प्रशिक्षण पुस्तिका का विमोचन किया गया. जल जीवन मिशन अंतर्गत ग्राम पानी व स्वच्छता समिति के पानी योजना की क्षमता व बांधणी की इस पुस्तिका में जानकारी दी गई है़  प्रशिक्षण में डा़  नीलेश हेडा, सचिन कुलकर्णी, शंकर आंबेकर और किशोर माली ने प्रशिणार्थियो को मार्गदर्शन किया. कार्यक्रम के सफलता के लिए जिला पानी व स्वच्छता कक्ष के रविंद्र सोनोने, प्रफुल्ल काले समेत कृषि विकास संस्था के सुमित मांदले, अंकिता पाटिल, मेघा झिने ने प्रयास किए़