रक्षा बंधन मुहूर्त-11 अगस्त, गुरूवार 2022 को ही रहेगा  -आचार्य विजयप्रकाश दायमा

    वाशिम. यहां के आचार्य विजयप्रकाश दायमा व जोतिष्य आनंद दायमा ने बताया कि, इस वर्ष 2022 में श्रावण पूर्णिमा तिथि 11 अगस्त, गुरूवार को है. इस साल अधिकांश व्यक्तियों से यही सुना जा रहा है कि, उस दिन भद्रा होने से रक्षा बंधन सम्पन्न नहीं होगा, क्योंकि हिन्दू शास्त्र के अनुसार भद्रा को अशुभ माना जाता है़.

    लेकिन इस वर्ष 11 अगस्त को पूर्णिमा को चंद्रमा मकर राशि का होने के कारण भद्रावास स्वर्ग में है अर्थात शुभ फलदायी है एवं यह दिवस पूर्णत रक्षा बंधन मनाने योग्य है. 12 अगस्त शुक्रवार को पूर्णिमा तिथि सुबह 7 बजकर 17 मिनट तक ही है. इसीलिए रक्षा बंधन 11 अगस्त, गुरूवार को लगभग सुबह 10.30 बजे के बाद पूर्णिमा तिथि लगने के उपरान्त ही मनाया जाएगा.

    पंडित आचार्य दायमा ने बताया कि, शास्त्रों के अनुसार जब भद्रा का वास मृत्यु लोक (पृथ्वीलोक) में होता है तभी केवल वह अशुभ माना जाता है. पाताल लोक अथवा स्वर्ग लोक की भद्रा का वास शुभ फलदायी होता है. इसलिए आचार्य विजयप्रकाश दायमा ज्योतिष पं.आनंद दायमा, ज्योतिष पं.मयूर दायमा पूर्णा (रेलवे जंक्शन), पं.विशाल दायमा, पं.लाला महाराज शर्मा, पं.सुधीर त्रिपाठी, पं.सूरजमल तिवारी (पप्पू महाराज) मंगरुलपीर के अनुसार इस वर्ष का रक्षाबंधन 11 अगस्त को ही रहेगा.