cyclone-asani
Pic ; Twitter

    नई दिल्ली. जहाँ एक तरफ चक्रवाती तूफान ‘असानी’ के खतरे को देखते हुए ओडिशा सरकार ने राज्य के 18 जिलों में यलो अलर्ट जारी किया है। वहीं मौसम विभाग की ओर से आज कहा गया है कि आने वाले 48 घंटे में 40-50 किमी/घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल सकती हैं। साथ ही ओडिशा सरकार ने खतरे को देखते हुए NDRF की 17 और ODRAF की 20 टीमें तैनाती की हैं। वहीं मौके पर 175 फायर ब्रिगेड को भी मुस्तैद किया गया है।

    PM मोदी ने भी की समीक्षा बैठक

    यह भी बता दें कि साइक्लोन ‘असानी’ को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी एक समीक्षा बैठक की है। बैठक में आपदा विभाग और मौसम विभाग के अधिकारी शामिल थे। इधर, ओडिशा सरकार ने तटीय इलाकों में खाद्य पदार्थ पहुंचाने की तैयारी भी जोर्धोर से शुरू कर दी है।

    8 मई तक भयावह हो है तूफान

    वहीं IMD ने बताया कि आगामी 8 मई तक साइक्लोन बंगाल की खाड़ी में प्रवेश करेगा। इसके बाद इसकी रफ्तार 75 किमी/ घंटे हो सकती है। फ़िलहाल सभी इस पर नजर बनाकर हुए हैं. इसके साथ ही मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि पुरी, ढेंकनाल और नॉर्थ कोस्टल ओडिशा के कई जिलों में आज यानि शुक्रवार से लेकर शनिवार तक तेज हवाएं चल सकती है। वहीं अंडमान सागर में निम्न दबाव की वजह से शुक्रवार को ही साइक्लोन की रफ्तार की जानकारी मिल सकेगी।

    इन राज्यों पर असर डाल सकता है ‘असानी’ 

    वहीं चक्रवाती तूफान ‘असानी’ का असर पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम, मेघालय, नगालैंड, मिजोरम, झारखंड, उत्तर-पूर्व के राज्यों में देखने को भी मिल सकता है। बता दें कि बीते कुछ सालों से ओडिशा को चक्रवातों का भी सामना करना पड़ रहा है।