DRDO

     नई दिल्ली: घरेलू रक्षा उद्योग (Domestic Defence Industry) को बढ़ावा देने के लिए रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (Defence Research and Development Organisation) (डीआरडीओ) (DRDO) ने निजी क्षेत्र (Private Sector) की कंपनियों को, मिसाइल सिस्टम विकसित करने और उत्पादन (Missile System Development and Production) करने की अनुमति दे दी है। इसमें वर्टिकल लॉन्च सरफेस (Vertical Launch Surface) से एयर मिसाइल सिस्टम प्रोग्राम (Air Missile System Program) तक शामिल है।

    डीआरडीओ के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया, “डेवलपमेंट कम प्रोडक्शन पार्टनर (DCPP) प्रोग्राम के तहत, हमने निजी क्षेत्र को अपने साथ मिसाइल सिस्टम विकसित करने और फिर उनका उत्पादन करने की अनुमति दी है।”

    उन्होंने कहा, “निजी क्षेत्र की कंपनियों ने भागीदारी के लिए बहुत उत्साह से जवाब दिया है और ऊर्ध्वाधर रूप से लॉन्च की गई शॉर्ट-रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल सिस्टम (वीएल-एसआरएसएएम) परियोजना के लिए बोलियां प्राप्त हुई हैं।”