Death
File Photo

    नवी मुंबई. 19 फरवरी 2021 को पनवेल तहसील (Panvel Tehsil) के तहत आनेवाले दापोली पारगांव में पड़ोस में रहने वाली एक महिला और उसकी बेटी की हत्या (Murder) करने के बाद आरोपी फरार हो गया था। महाराष्ट्र के हिंगोली जिले (Hingoli District) के रहने वाले इस आरोपी ने अपने गांव पहुंचने के बाद वहां के जंगल में खुद को फांसी लगाकर आत्महत्या (Suicide) की। जिसके शव को हिंगोली जिले की नरसी नामदेव पुलिस स्टेशन ने पोस्टमार्टम के लिए नरसी नामदेव ग्रामीण अस्पताल में भेज दिया। ऐसी जानकारी पनवेल शहर पुलिस स्टेशन ने मीडिया को दी।

    गौरतलब है कि पनवेल के दापोली पारगांव स्थित मजदूरों की बस्ती में रहने वाले प्रकाश यशवंत मोरे ने अपने पड़ोस में रहने वाले सिद्धार्थ बलखड़े से उनकी 19 साल की बेटी से विवाह करने की इच्छा व्यक्त की थी। जिससे बलखड़े परिवार ने इंकार कर दिया था। इसी बात से नारज होकर प्रकाश ने सिद्धार्थ बलखड़े, उसकी पत्नी सुरेखा बलखडे और बेटी सुजाता बलखडे पर चाकू से हमला किया था। इस हमले में गंभीर रूप से घायल सुरेखा और सुजाता की मौत हुई थी।घटना के बाद से आरोपी फरार हो गया था। जिसकी तलाश पनवेल शहर पुलिस स्टेशन की अपराध शाखा और डॉग स्कॉट की टीम कर रही थी।

    अपनी मां को मोबाइल पर दी थी जानकारी

    आरोपी प्रकाश को पकड़ने के लिए पनवेल शहर पुलिस का एक दस्ता हिंगोली गया था। जहां पर पुलिस को पता चला कि आरोपी ने आत्महत्या कर ली है। आत्महत्या करने के पहले इस आरोपी ने फेसबुक पर भी इसके बारे में पोस्ट किया था। खुद की जीवनलीला समाप्त करने से पहले उसने अपनी मां को मोबाइल पर फोन कर के आत्महत्या करने के बारे में जानकारी दी थी। इसके बाद जंगल में एक पेड़ की डाल से रस्सी बांधकर प्रकाश ने आत्महत्या की।