Surgical Gloves
File Photo

    कल्याण. सोशल मीडिया (Social Media) पर विज्ञापन (Advertisement) देना भारी पड़ गया और बीएमसी (BMC) के एक कर्मचारी को रेल यात्रा के लिए फर्जी पहचान पत्र (fake ID) देने के आरोप में कल्याण पुलिस (Kalyan Police) ने मामला दर्ज कर आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया हैं। मिली जानकारी के अनुसार, आरोपी ने सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था कि ट्रेन में यात्रा के लिए  पहचान पत्र मिलेगा।

    गौरतलब है कि कोरोना महामारी को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के बीच आम जनता के लिए स्थानीय लोकल ट्रेन यात्रा बंद है।  केवल आवश्यक सेवा कर्मी ही ट्रेन से यात्रा कर सकते हैं। हालांकि 28 वर्षीय धनंजय बंसोडे को कल्याण रेलवे पुलिस की अपराध शाखा ने सड़क मार्ग से यात्रा करने वाले यात्रियों को फर्जी पहचान पत्र जारी करने की कोशिश करने के आरोप में गिरफ्तार किया है।  

    4 फर्जी पहचान पत्र फॉर्म जप्त

    पुलिस ने इनके पास से 4 फर्जी पहचान पत्र फॉर्म और मुंबई मनपा के स्वास्थ्य विभाग की मुहर और हस्ताक्षर की मुहर भी जब्त की है। आरोपी बीएमसी के एफ वार्ड कार्यालय के स्वास्थ्य विभाग में संविदा पर कार्यरत था।  तीन महीने से वेतन नहीं मिलने के कारण पैसे जुटाने के लिए संघर्ष कर रहा था। फिर उसने फेसबुक के माध्यम से अपील की कि जो कोई भी पहचान पत्र चाहता है, उसे एक आवश्यक सेवा कर्मचारी के रूप में ट्रेन यात्रा रियायत प्राप्त करने के लिए संपर्क करें। किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा रेलवे कमिश्नर को संदेश भेजे जाने के बाद रेलवे कमिश्नर ने मामले की जांच करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद कल्याण क्राइम ब्रांच की पुलिस ने उससे संपर्क किया और कल्याण रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर-1 पर उसे फर्जी ग्राहक बनकर पकड़ लिया। अपराध शाखा के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक वाल्मीक शार्दुल ने कहा कि पिछले तीन दिनों में उसने छह पहचान पत्र पेश किए हैं, जिनमें से चार को पुलिस ने जब्त कर लिया है। पुलिस आगे की जांच में जुटी है। इस दौरान कल्याण रेलवे पुलिस के वरिष्ठ निरीक्षक वाल्मीक शार्दुल ने बताया कि अदालत ने आरोपी को दो दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया है और आगे की जांच जारी है।