Record corona cases surfaced in Uttarakhand, 85 deaths in 24 hours, 6251 new cases
File

बुधवार को मिले 197 नए मरीज, 10 की हुई मौत

ठाणे. ठाणे में कोरोना का संक्रमण कम होता नजर नहीं आ रहा है. इस वैश्विक महामारी से ठीक होने का ग्राफ जरूर पिछले तीन दिनों में ऊपर आया है. परन्तु दिन-ब-दिन बढ़ रहे मरीजों की संख्या से मनपा प्रशासन की चिंता बढ़ती नजर आ रही है. बहरहाल बीते 24 घंटों में कुल 197 कोविड-19 के नए मामले सामने आए हैं. जबकि 10 मरीजों की इलाज के दौरान मौत दर्ज की गई है. जिनमें पांच पुरुष और पांच महिला मरीजों का समावेश है. इस प्रकार ठाणे में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 6827 हो गई. मृतकों का आंकड़ा 200 को पार करते हुए अब तक कुल 233 मरीज की मौत चुकी है. 

ठाणे मनपा की सीमा बुधवार 52 कोरोना मरीज ठीक होकर अपने घर गए और अब तक कुल 3503 कोरोना पॉजिटिव मरीज निगेटिव होकर अर्थात ठीक (Recover) हो चुके हैं, जबकि 3091 एक्टिव मामले हैं. जिनका इलाज शहर के विभिन्न कोविड अस्पतालों में चल रहा है. कोविड-19 से अब तक ठाणे मनपा की सीमा में कुल 233 मौतें हो चुकी हैं, जिनमें 156 पुरुष और 77 महिलाओं का समावेश है.

ठाणे में कोरोना मरीजों के ठीक होने का प्रतिशत अन्य मनपा की तुलना में अच्छा माना जा रहा है. क्योंकि पिछले करीब 15 दिनों की तुलना में मरीजों के ठीक होने का प्रतिशत 47 से बढ़कर अब 52 फीसदी जा पहुंचा है. मनपा सूत्रों की मानें तो जिस प्रकार पिछले 20 दिनों से कोरोना संक्रमित मरीज बढ़ रहे थे, यह एक चिंता का विषय बनता जा रहा था. लेकिन अब ठीक होने वाले मरीजों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है. जोकि ठाणे करों के लिए राहत की बात है.

राज्य सरकार ने ठाणे में कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए तीन आईएएस अधिकारियों की भी नियुक्ति किया है और वे अब अन्य मनपाओ में किस प्रकार कोरोना का चेन खत्म हो रहा है. उस पर ध्यान केंद्रित कर ठाणे में भी इसी पैटर्न पर काम करने की शुरुआत किये हैं. साथ ही मनपा स्वास्थ्य विभाग और पुलिस विभाग इस वैश्विक महामारी कोरोना के नियंत्रण के लिए कई उपाय योजना कर रही है, लेकिन स्थिति गंभीर होती जा रही है.

मनपा प्रशासन का मानना है कि अब तक निजी लैब द्वारा मनपा की सीमा में पाए जाने वाले संदिग्ध मरीजों का टेस्ट किया जा रहा था, लेकिन अब मनपा प्रशासन के स्वास्थ्य विभाग द्वारा सरकारी लैब में अधिक टेस्ट किया जा रहा है. जिसके कारण अब अधिक संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा हैं तो ठीक होने वाले भी तेजी से बढ़ रहे हैं.

कलवा प्रभाग समिति में मिले सबसे अधिक मरीज

बुधवार को शहर के मध्य में स्थित नौपाड़ा-कोपरी प्रभाग समिति में जहाँ दूसरे क्रमांक के 32 मरीज पाए गए हैं. जबकि पहले क्रमांक पर कलवा प्रभाग समिति है. यहाँ पर 24 घंटे में 35 नए मरीज मिले हैं. दूसरे स्थान पर लोकमान्य-सावरकर नगर तथा उथलसर प्रभाग समिति है, जहाँ पर क्रमशः 23-24 कोरोना के पॉजिटिव मरीज मिले हैं. जबकि माजीवाड़ा-मानपाड़ा प्रभाग समिति है, जहाँ पर 21 मरीज और वागले प्रभाग समिति अंतर्गत 21 नए कोरोना के पॉजिटिव मरीज मिले है. इस प्रकार माजीवाड़ा, कलवा और नौपाडा-कोपरी परिसर में फिर से मरीजों का आंकड़ा एक बार फिर बढ़ना प्रशासन के लिए चिंता की बात है. पिछले कुछ दिनों से हॉटस्पॉट बन चुके मुंब्रा प्रभाग समिति क्षेत्रों में कोरोना के कम संक्रमित मरीजों का मिलना प्रशासन और यहाँ के रहिवासियों के लिए राहत की बात माना जा रहा है.  

प्रभाग समिति निहाय मिले मरीजों की संख्या

प्रभाग समिति       नए मरीज    

1) माजिवडा मानपाडा      – 21     

2) वर्तकनगर           –  23

3) लोकमान्य सावरकर नगर-  20  

4) नौपाडा-कोपरी               –  32 

5) उथलसर                       –  24  

6) वागले                          –  21  

7) कलवा                         –   35  

8) मुंब्रा                            –  10

9) दिवा                           –  10

10) अन्य क्षेत्र                   –  01  

कुल                         –     197