METRO

    ठाणे. ठाणे जिले (Thane District) के तीन मेट्रो परियोजनाओं (Three Metro Projects) को अब गति मिलने वाली हैं क्योंकि एमएमआरडीए (MMRDA) की कार्यकारी समिति की बैठक में कल्याण-तलोजा, गायमुख-शिवाजी चौक और ठाणे-भिवंडी के बीच तीन महत्वपूर्ण मेट्रो परियोजनाओं के निर्माण के लिए सलाहकार कंपनियों को नियुक्त करने का निर्णय लिया है। कल्याण-नवी मुंबई और ठाणे-मीरा रोड को जोड़ने वाली गायमुख-शिवाजी चौक मेट्रो लाइन के निर्माण पर 188 करोड़ रुपए खर्च होंगे। 

    वहीं ठाणे से भिवंडी तक दूरसंचार व्यवस्था समेत 91 करोड़ रुपए के महत्वपूर्ण कार्यों के लिए सलाहकार नियुक्त किए गए हैं। इस प्रकार फास्ट ट्रैक पर ठाणे मेट्रो के इन तीनों परियोजनाओं के कुल 279 करोड़ मिली है। इस फैसले से ठाणे जिले में सार्वजनिक परिवहन की सूरत बदलने वाली तीन मेट्रो परियोजनाओं का काम तेजी से होगा।

    पीएम मोदी ने किया था भूमिपूजन

    गौरतलब है कि कल्याण-तलोजा और गायमुख-शिवाजी चौक मेट्रो परियोजनाओं का भूमिपूजन सितंबर 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों हुआ था। हालांकि, बाद में कोरोना के प्रकोप के कारण मेट्रो परियोजना पर काम ठप कर दिया था। अंत में निविदा प्रक्रिया पूरी करने के बाद इन परियोजनाओं के निर्माण के लिए एमएमआरडीए द्वारा सलाहकार नियुक्त किए गए हैं। कंपनी की नियुक्ति एमएमआरडीए की कार्यकारी समिति की 10 मई को हुई बैठक में 188 करोड़ रुपए की लागत से हुई थी। यह काम ईकॉम एशिया और ईकॉम इंडिया के संयुक्त उद्यम के जरिए किया जाएगा। संबंधित कंपनी द्वारा गुजरात मेट्रो, कोलकाता मेट्रो, हैदराबाद मेट्रो, नागपुर मेट्रो के साथ-साथ एमएमआरडीए के मुंबई ट्रांस हार्बर लिंक जैसी परियोजनाओं को अंजाम दिया जा रहा है। 

    मेट्रो-10 और मेट्रो-12 दोनों परियोजनाओं के निर्माण की मंजूरी 

    कंपनी को मेट्रो-10 और मेट्रो-12 दोनों परियोजनाओं के निर्माण की मंजूरी दी गई। संगठन दिल्ली मेट्रो रेलवे कॉर्पोरेशन द्वारा तैयार विस्तृत परियोजना रिपोर्ट की समीक्षा करेगा, निर्माण कार्य के लिए ठेकेदार का चयन, निविदा प्रक्रिया और कार्य का प्रबंधन, वास्तुकला कार्य, पीईबी, कारशेड डिपो, स्थिरीकरण यार्ड निविदा प्रक्रिया में प्रबंधन सहायता कंपनी करेगी। सलाहकार वित्त पोषण एजेंसियों के दिशा-निर्देशों के अनुसार गुणवत्ता, सुरक्षा और पर्यावरण आश्वासन कार्य की समीक्षा करने के साथ-साथ काम की समीक्षा करने और बिलिंग के लिए सिफारिशें करने के लिए जिम्मेदार होगा। इनमें मेट्रो प्रणाली प्रबंधन की योजना बनाना, परिवहन के अन्य साधनों के लिए योजनाओं के समेकन में सहायता करना और परमिट प्राप्त करने में सहायता करना शामिल है।  

    कल्याण-तलोजा, गायमुख-शिवाजी चौक मेट्रो को गति

    एमएमआरडीए ने कल्याण-डोंबिवली और नवी मुंबई को जोडऩे के लिए 20.756 किलोमीटर लंबी परियोजना मेट्रो -12 की योजना बनाई है। परियोजना की लागत जिसमें 17 मेट्रो स्टेशन शामिल हैं, 5,865 करोड़ रुपए तय की गई है। यह परियोजना कल्याण-डोंबिवली से नवी मुंबई की यात्रा करने वाले नागरिकों के लिए फायदेमंद होगी। ठाणे-मीरा रोड शहरों को जोडऩे के लिए गायमुख-शिवाजी चौक, मेट्रो-  10 को 9.209 किमी लंबाई के चार मेट्रो स्टेशनों के साथ जोडऩे की योजना बनाई गई है। इस पर 4,476 करोड़ रुपये खर्च होंगे।  

    ठाणे-भिवंडी परियोजना से एक कदम आगे

    ठाणे और भिवंडी के बीच निर्माण कार्य शुरू हो गया है। रोलिंग स्टॉक, संकेत, दूरसंचार, बिजली आपूर्ति और कर्षण, ई एंड एम, स्टेशन और डिपो, एएफसी, पीएसडी, लिफ्ट और एस्केलेटर के लिए एक ठेकेदार नियुक्त किया गया है। इसमें कार्यों की दिन-प्रतिदिन की निगरानी, योजनाओं के प्रारूप तैयार करने, प्रणाली निविदाओं का मूल्यांकन, मेट्रो लाइन डिपो कार्यों की निगरानी, परीक्षण और प्रणाली शुरू किया जाना शामिल है।