Onion price started increasing in bulk

    नवी मुंबई. लॉकडाउन (Lockdown) की अवधि के बढ़ने के बाद वाशी (Vashi) स्थित एपीएमसी (APMC) की आलू-प्याज की मंडी में प्याज की आवक अब और कम हो गई है। जिसके चलते अब थोक में इसके दाम में वृद्धि होने का सिलसिला शुरू हो गया है। बुधवार को प्याज को थोक में जहां इस न्यूनतम 3 रुपए किलो का दाम मिला। वहीं वीआईपी दर्जे की प्याज 23 रुपए किलो बेची गई। इसके पहले हल्के दर्जे की प्याज 2 रुपए किलो बिक रही थी, जबकि वीआईपी दर्जे की प्याज को 17 रुपए किलो का दाम मिल रहा था। थोक में प्याज की कीमत बढ़ने का असर अब खुदरा बाजार में भी दिखने लगा है।

    एपीएमसी की आलू-प्याज की मंडी में थोक में कारोबार कर रहे मनोहर तोतलानी के अनुसार बुधवार को मंडी में 12 हजार 557 बोरी प्याज की आवक हुई। इसके पहले मंडी में 15 हजार बोरी से अधिक प्याज की आवक मंडी में हो रही थी। तोतलानी के मुताबिक, बुधवार को  मंडी में वीआईपी दर्जे की प्याज को 21 से 23 रुपए किलो का दाम मिला। इसके पहले यह 15 से 17 रुपए किलो बिक रही थी। इसी तरह जबकि 1 नंबर की प्याज को 18 से 20 रुपए किलो बेचा गया।जो पहले 11 से 12 रुपए किलो बेची जा रही थी, जबकि 2 नंबर की प्याज 12 से 14 रुपए किलो बेची गई।पहले इसे 9 से 10 रुपए मिल रहे थे, पहले 3 नंबर की प्याज को 7 से 8 रुपए बिक रही थी अब इसे 9 से 11 रुपए किलो का दाम मिल रहा है, इसी तरह पहले 4 नंबर की प्याज 5 से 6 रुपए किलो थी अब 6 से 8 रुपए किलो हो गई है। जबकि सबसे हल्के दर्जे में गिनी जाने वाली  5 नंबर की प्याज अब 3 से 5 रुपए किलो बिक रही है।जिसे पहले  2 से 4 रुपए किलो बेचा जा रहा था।

    13265 बोरी आलू मंडी में आया

    तोतलानी के अनुसार, बुधवार को मंडी में यूपी, गुजरात, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश से 13 हजार 265 बोरी आलू की आवक हुई। मंडी में जहां यूपी की आलू को 9 से 13 रुपए किलो का दाम मिला। वहीं गुजरात की आलू को 3 से 13 रुपए किलो के हिसाब से बेचा गया, जबकि मध्य प्रदेश से आए आलू को थोक में 8 से 17 रुपए किलो का दाम मिला है। थोक में आलू के सस्ता होने से खुदरा में भी इसके दाम में गिरावट आई है।खुदरा बाजार में अब इसे 15 से 20 रुपए किलो बेचा जा रहा है।

    लहसुन भी हुआ महंगा

    वाशी स्थित एपीएमसी की आलू-प्याज की मंडी में बुधवार को गुजरात व उटी से 3 हजार 642 बोरी लहसुन की आवक हुई। इसके पहले मंडी में लगभग 1600 बोरी लहसुन की आवक हो रही थी। आवक बढ़ने के बावजूद इसकी कीमत में इजाफा हुआ है। बुधवार को देशी वीआईपी दर्जे के लहसुन को थोक में 75 से 90 रुपए किलो का दाम मिला। इसके पहले इसे 70 से 85 रुपए किलो बेचा गया था। जबकि 1 व 2 नंबर के देशी लहसुन को बुधवार को  40 से 70 रुपए का दाम मिला। वहीं गुजरात से आए लहसुन को 60 से 90 रुपए किलो बेचा गया, जबकि उटी से आए लहसुन को 60 से 130 रुपए किलो का दाम मिला। पहले इसे 60 से 120 रुपए किलो का दाम मिल रहा था। बुधवार को मंडी में लहसुन की देशी कली को 40 से 55 रुपए किलो में बेचा गया।