Prime Minister Narendra Modi says something and do something MP Supriya Sule

    अंबरनाथ. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की कथनी और करनी में फर्क है, वह बोलते बहुत है पर प्रत्यक्ष तौर पर काम नहीं करते है। वास्तव में यदि प्रधानमंत्री चाहे तो अपनी मांगों को लेकर विगत 3 महीने से दिल्ली की सीमा पर आंदोलन पर बैठे किसानों (Farmers) की समस्या का समाधान एक बैठक में हो सकता है। पर मन की बात करने वाले मोदी जी के मन में किसानों के प्रति संवेदना नहीं है। उन्हें किसानों के हित में करना कुछ नहीं है। यह कहना है एनसीपी नेता (NCP leader) और सांसद सुप्रिया सुले (MP Supriya Sule) का।  

    अंबरनाथ एनसीपी पार्टी के अध्यक्ष सदाशिव पाटिल द्वारा स्थानीय पनवेलकर हॉल में कार्यकर्ताओं की  समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया था। इस दौरान पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सांसद सुले ने यह बात कही। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री जितेंद आव्हाड, एनसीपी के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रमोद हिंदुराव, प्रवक्ता महेश दादा तपासे, ठाणे-पालघर जिला समंवयक पूर्व सांसद आनंद परांजपे, मंच पर उपस्थित थे। 

    एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार की सांसद बेटी सुप्रिया सुले ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री सदन में कहते यह है कि मैं सांसदों द्वारा किए गए फोन अटेंड करता हूं, सुले के मुताबिक लेकिन सच्चाई भिन्न है। मैंने जनहित, नागरिकों की समस्याओं के निदान के लक्ष्य को लेकर मोदी जी से फोन से बात करने की कोशिश की, पर उन्होंने कभी फोन नहीं रिसीव किया। इसका मतलब वह कहते कुछ हैं और करते कुछ हैं। सुले ने कहा कि कोविड बीमारी के नाम पर प्रधानमंत्री ने ढाई साल के लिए सांसद निधि बंद कर दी है। जिससे चाहकर भी सांसद विकास निधि नहीं दे पा रहे है। 

    केंद्र की कामगार विरोधी नीति के कारण लोग बेरोजगार हो रहे    

    राज्य के गृह निर्माण मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने भी बैठक में उपस्थित कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन किया। आव्हाड ने कहा कि अंबरनाथ की पहचान एक उघोग नगरी के रूप में की जाती रही है। लेकिन केंद्र में जब से भाजपा की सरकार आई है, उनकी कामगार विरोधी नीति के कारण कंपनियां बंद हो रही है और हजारों लोग बेरोजगार हो रहे हैं। 

    एनसीपी ने नगर पालिका चुनावों का बजाया बिगुल 

    एनसीपी के राज्य स्तरीय नेता प्रमोद हिंदूराव ने इस मौके पर  आगामी नगर पालिका चुनाव की तैयारी में जुट जाने की अपील एनसीपी कार्यकर्ताओं से की। एनसीपी प्रवक्ता महेश तपासे, प्रदेश उपाध्यक्ष सुभाष पिसाल ने भी अपने विचार व्यक्त किए। भाजपा के जिला उपाध्यक्ष किसनराव तारमले, बिरजू जायसवाल ने सांसद सुप्रिया सुले की उपस्थिति में एनसीपी में शामिल हुए।