दिवा में पहली ही बारिश में लोगों के घरों में भरा पानी

    ठाणे. गटर का योग्य नियोजन न होने और नाला सफाई का सही तरीके से न होने का खामियाजा दिवा (Diva) वासियों को पहली बरसात (Rainमें उठाना पड़ा हैं क्योंकि बुधवार की पहली मानसूनी बरसात में दिवा में लोगों के घरों में घुटने से भी अधिक पानी भर आया। ऐसे में लोग पानी घर से बाहर निकालते नजर आए, जबकि अभी पूरा बरसात बाकी है।  

    ठाणे महानगरपालिका (Thane Municipal Corporation) की सीमा अंतर्गत आने वाला दिवा परिसर खाड़ी के किनारे बसा हुआ हैं। यहां पर नाला सफाई के नाम पर प्रतिवर्ष हाथ की सफाई का आरोप होता आ रहा हैं। इस बार ऐसी संभावना जताई जा रही थी कि शायद नाले बरसात से भरेंगे नहीं, लेकिन ठीक इसका उल्टा नजारा नजर आ रहा हैं। यहाँ के स्थानीय निवासी अर्जुन उपाध्याय का कहना है कि दिवा में अनेकों जगहों पर सड़कों का काम तो किया गया है, लेकिन पानी के निकासी की व्यवस्था सही तरीके से नहीं की गई हैं और गटर को भी दुरुस्त नहीं किया गया हैं। यही कारण है कि पानी का सही तरीके से निकास नहीं हो पा रहा हैं। 

    मुख्य नालों की सफाई सही तरीके से नहीं हुई

    वहीं, भाजपा के रोहिदास मुंडे ने इसे मनपा की लापरवाही करार दिया हैं। मुंडे का कहना है कि इतनी कम बार‍शि में यह हाल है तो यह अनुमान लगाया जा सकता है कि आने वाले दिनों में लोगों को भारी परेशानी उठानी होगी। मुंडे ने आरोप लगाया कि मुख्य नालों की सफाई सही तरीके से नहीं हुई। जिसके कारण पहली बरसात में ही बैठी चालों और कुछ बिल्डिंग में नाला का बरसाती पानी घुस गया हैं। आलम यह है कि लोगों को घुटने से भी अधिक पानी मे रहने के लिए मजबूर होना पड़ रहा हैं और अनेकों समस्याओं को झेलना पड़ रहा हैं। साथ ही मुंडे ने नालों की सफाई ठीक तरीके से न करने वाले ठेकेदार और संबंधित अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की है। साथ ही उन्होंने इस बरसात के दौरान कोई बड़ी दुर्घटना न घटे इसके लिए यहां के रहिवासियों को रहने की व्यवस्था भी प्रशासन से करने की मांग की।