प्राकृतिक सौन्दर्य से परिपूर्ण नागपुर की अंबाझरी झील, आज कोरोना महामारी के चलते पड़ी है वीरान

    -वैष्णवी वंजारी

    नागपुर में आने वाले पर्यटकों तथा नागपुर रहवासियों के लिए अंबाझरी झील  एक प्रमुख आकर्षण का केंद्र हैं. लेकिन, कोरोना महामारी के चलते अंबाझरी झील एकदम वीरान पड़ गया है. हमेशा चहल पहल रनेवाली झील तथा बाल उद्यान में सन्नाटा छाया हुआ है। यह  झील शहर में सबसे बड़ी है और देश के सभी हिस्सों से पर्यटकों को आकर्षित करती है। प्राचीन झील एक शानदार पिकनिक स्थल भी है, क्योंकि इनमें अनेक मनोरंजक गतिविधियां हैं, साथ ही जिनमें पर्यटक लिप्त हो सकते हैं। झील के शांत परिसर में इंसान सुख और मन की शांति का अनुभव करता है।

    यह एक एसा दृश्यनिहाय नजारा है की यह आकर मानसिक शांति मिलती है। रोजाना भागदौड़ वाले दिनचर्या से थोड़ा समय निकाल कर बड़े से लेकर बुजुर्ग तक  अपना समय यहा व्यापन करते है। जल में नौका विहार से लेकर अच्छी तरह की सुविधाएं है।  सैर के रास्तों पर चलने तक, विकल्प बहुत से हैं। पर्यटक झील के ठीक समीप में स्थित खूबसूरत अंबाझरी उद्यान भी जा सकते हैं। उद्यान पर्यटकों को रोमांचकारी सवारियों और एक भव्य संगीतमय फव्वारे के जादुई दृश्य का आनंद प्राप्त करने का अवसर प्रदान करता है। अंबाझरी झील की यात्रा के लिए सबसे अच्छा समय सूर्यास्त के दौरान होता है, जब इसे रंगों की बहुलता में चित्रित किया जाता है। प्रसन्नतापूर्ण सवारियां करने और नौका विहार में आनंद लेने का यह एक शानदार जगह है। 

    शहर के पश्चिमी हिस्से में स्थित यह झील 15.4 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैली हुई है। चारों ओर से खूबसूरत बगीचों से घिरी इस झील में नौकायन का आनंद लिया जा सकता है। झील के संगीतमय फव्वारे इस झील की सुंदरता में चार चांद लगा देते हैं। झील के साथ ही एक बेहद खूबसूरत बगीचा है जिसे नागपुर के सबसे सुंदर स्थलों में शामिल किया जाता है।सभी नागपूरवासी तथा पर्यटक जल्द से जल्द इस कोरोना महामारी से छुटकारा मिले  और जल्द ही अंबाझरी छील जाने का अवसर मिले यह उम्मीद लगाए बैठे  है।