Kovid-19 Help Desk set up at 3441 PHC and 853 CHC of UP: Additional Chief Secretary

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि सभी विभागों एवं संस्थाओं में कोविड-19 हेल्प डेस्क स्थापित की जाए। निजी चिकित्सालयों में भी कोविड-19 हेल्प डेस्क स्थापित किया जाए। अभी तक प्रदेश के 3441 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) और 853 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) पर कोविड-19 हेल्प डेस्क की स्थापना कर दी गयी है।

अपर मुख्य सचिव (गृह और सूचना) अवनीश अवस्थी ने सोमवार को पत्रकारों से कहा, ‘‘मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कोविड-19 हेल्प डेस्क की स्थापना के कार्य को तेज गति से किया जाय। उन्होंने कहा है कि सभी विभागों एवं संस्थाओं में कोविड-19 हेल्प डेस्क स्थापित की जाए। निजी चिकित्सालयों में भी कोविड-19 हेल्प डेस्क स्थापित किया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि ओपीडी संचालित करने वाले अस्पताल में कोविड हेल्प डेस्क अनिवार्य रूप से स्थापित हों।”

उन्होंने बताया कि 3441 पीएचसी और 853 सीएचसी कोविड -19 हेल्प डेस्क की स्थापना कर दी गयी है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा है कि सभी थाना, विकासखण्डों, तहसील तथा जिला मुख्यालयों पर भी कोविड-19 हेल्प डेस्क स्थापित किये जाएं।

अवस्थी ने बताया कि आगरा में 206, फिरोजाबाद में 82, हाथरस में 38, कासगंज में 39, आजमगढ़ में 98, मऊ में 53, प्रयागराज में 19, प्रतापगढ़ में 87, इटावा में 56, औरैया में 176, गोरखपुर में 49, झांसी में 41, ललितपुर में 35, गोण्डा में 71, बहराइच में 66, श्रावस्ती में 23, बलरामपुर में 43, अयोध्या में 82, बाराबंकी में 72, अमेठी में 84, बरेली में 66, बदायू में 18, शाहजहांपुर में 65, सिद्धार्थनगर में 17, मिर्जापुर में 76, भदोही में 30, सोनभद्र में 38, मुरादाबाद में 72, बिजनौर में 20, संभल में 42, रामपुर में 49, अमरोहा में 76, मेरठ में 155, गौतमबुद्धनगर में 24, हरदोई में 130, सहारनपुर में 40 तथा शामली में 56 कोविड-19 हेल्प डेस्क स्थापित कर दिये गये हैं।

उन्होंने बताया कि जनपद गौतमबुद्ध नगर तथा गाजियाबाद के साथ ही पूरे मेरठ मण्डल में डोर-टू-डोर अभियान चलाने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिये हैं।(एजेंसी)