Rape Accused Posters, SP, AAP, BJP

आजमगढ़/लखनऊ (उप्र). मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) द्वारा महिलाओं के प्रति अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए आरोपियों की तस्वीरें चौक-चौराहों पर लगवाने के निर्देश के बाद समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) (सपा) और आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) (आप) कार्यकर्ताओं ने भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janata Party) (भाजपा) के यौन उत्पीड़न (Sexual Harassment) के आरोपी और सजायाफ्ता नेताओं के पोस्टर लगा दिये।

सपा कार्यकर्ताओं ने आजमगढ़ में जबकि आप सदस्यों ने राजधानी लखनऊ में ऐसे पोस्टर लगाये। हालांकि, पुलिस ने सभी पोस्टर हटा दिये हैं। पिछले सप्ताह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिला अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए आरोपियों की तस्वीरें चौक-चौराहों पर सार्वजनिक करने के निर्देश दिये थे। आजमगढ़ शहर के कलेक्ट्रेट चौराहे के आस-पास तथा कई अन्य इलाकों में सोमवार को समाजवादी युवजन सभा के लालजीत यादव क्रांतिकारी की तरफ से पोस्टर चिपकाये गये।

पोस्टर में यौन उत्पीड़न के आरोप में सजा पा चुके पूर्व भाजपा से निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर (Kuldeep Singh Sengar) और बलात्कार के आरोपी उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज (Sakshi Maharaj), के साथ-साथ उम्रकैद की सजा काट रहे बाबा राम रहीम (Baba Ram Rahim) की तस्वीर भी लगी थी। यह पोस्टर शहर के कई स्थानों पर लगाये गये थे। इसकी सूचना मिलने पर पुलिस ने इन पोस्टरों को हटाकर अपने कब्जे में ले लिया।

पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि समाजवादी युवजन सभा द्वारा कुछ आपत्तिजनक पोस्टर लगाये गये थे, जिन्हें हटा दिया गया है। इस मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

वहीं, समाजवादी युवजन सभा के प्रदेश कार्यकारणी सदस्य लालजीत यादव क्रांतिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि अब बलात्कारियों के फोटो हर चौक-चौराहों पर लगाये जायेगें। इसी के तहत समाजवादी पार्टी के युवजन सभा के लोगों ने यौन उत्पीड़न के आरोपी भाजपा नेताओं के पोस्टर लगाये हैं। इस बीच, आप कार्यकर्ताओं ने भी लखनऊ के निशातगंज और आलमबाग में ऐसे ही पोस्टर लगाये। हालांकि, पुलिस ने उन्हें फाड़ दिया।

इस मामले में पार्टी के दो जिला पदाधिकारियों को पुलिस ने पकड़ा है। आप के प्रान्तीय प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने बताया कि पार्टी कार्यकर्ताओं ने निशातगंज और आलमबाग में पोस्टर लगाये। इसकी भनक लगते ही पुलिस ने पोस्टर फाड़ने शुरू कर दिये। कार्यकर्ताओं ने ”योगी जी तुम संघर्ष करो, हम तुम्हारे साथ हैं, बलात्कारियों को फांसी दो हम तुम्हारे साथ हैं” के नारे लगाये।

उन्होंने बताया कि पुलिस ने पोस्टर लगाने के आरोप में पार्टी जिला सचिव अफरोज आलम और सदस्य अनीस नवाब को पकड़ लिया। हालांकि, बाद में दोनों को छोड़ दिया। माहेश्वरी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ही बलात्कारियों के पोस्टर लगवाने के आदेश दिये हैं, मगर उन्हीं की पुलिस उनकी बात नहीं मान रही है। (एजेंसी)