Representational Pic
Representational Pic

    लखनऊ: उत्तर प्रदेश में भाजपा के केंद्रीय पदाधिकारियों के दौरे के दूसरे दिन पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में कई सत्रों में बैठक चली, जिसमें ‘संगठन ही सेवा’ मंत्र के साथ बूथ स्तर तक संगठन की संरचना पूरी करने की जिम्मेदारी कार्यकर्ताओं को सौंपी गई। अगले वर्ष की शुरुआत में राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री (संगठन) बीएल संतोष और प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह सोमवार को दो दिवसीय दौरे पर लखनऊ आए। यहां भाजपा मुख्यालय में मंगलवार को बीएल संतोष, राधा मोहन सिंह, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल ने प्रदेश पदाधिकारियों और क्षेत्रीय अध्यक्षों के साथ एक बैठक की। 

    बाद में एक सत्र में इस बैठक में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डाक्टर दिनेश शर्मा समेत कैबिनेट के कई मंत्री शामिल हुए। प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने ट्वीट किया, ‘‘भाजपा प्रदेश कार्यालय में प्रदेश महामंत्रियों एवं क्षेत्रीय अध्यक्षों की बैठक में राष्ट्रीय महामंत्री (संगठन) बीएल संतोष एवं प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह का मार्गदर्शन प्राप्त हुआ।” बाद में स्‍वतंत्र देव सिंह ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि बीएल संतोष और राधा मोहन सिंह के दो दिवसीय प्रवास में संगठन की बैठक हुई जो चार घंटे तक चली और इसमें संगठन के बूथ स्‍तर तक के गठन की चर्चा हुई। 

    उन्होंने बताया कि केंद्रीय पदाधिकारियों ने पार्टी के सभी सांसद व विधायकों को संगठनात्मक जिम्मेदारी सौंपी और सभी अभियानों की समीक्षा की। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि बैठक में केवल संगठनात्मक चर्चा की गई। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनीष दीक्षित ने बताया कि बैठक में कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर फैसले किये गये हैं और इस कड़ी में 23 जून से छह जुलाई तक प्रदेश व्यापी पौधारोपण अभियान तथा प्रधानमंत्री के ‘मन की बात’ को बूथ स्तर तक ले जाने की योजना बनी है। 

    दीक्षित ने बताया कि कार्यकर्ताओं की टीकाकरण में सहभागिता पर भी जोर दिया गया है। उन्होंने कहा कि बैठक में पार्टी की संगठनात्मक संरचना को पूर्ण करते हुए निचली इकाई तक पार्टी संगठन को मजबूत करने की योजना बनी साथ ही प्रदेश में गरीबों व जरूरतमंदों को भाजपा सरकार द्वारा दिए जा रहे निशुल्क राशन का लाभ सभी पात्र व्यक्तियों को मिल सके इसके लिए सांसद, विधायक, पार्टी पदाधिकारियों तथा बूथ के कार्यकर्ताओं को सक्रिय करने की योजना तैयार की गई। बाद में भाजपा मुख्यालय में दूसरे सत्र में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डाक्टर दिनेश शर्मा और अन्य कैबिनेट मंत्रियों के साथ भाजपा पदाधिकारियों की बैठक संपन्न हुई जिसमें 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर चर्चा हुई। 

    भाजपा के एक प्रवक्ता ने बताया कि बैठक में यह चर्चा हुई कि पार्टी ने ‘सबका साथ-सबका विकास’ के मंत्र के साथ समाज के सभी वर्गों का भला किया है और विपक्ष के पास कहने के लिए कुछ नहीं है। बैठक में पार्टी की संगठनात्मक संरचना को पूर्ण करते हुए निचली इकाई तक पार्टी संगठन को मजबूत करने की योजना बनी साथ ही प्रदेश में गरीबों व जरूरतमंदों को भाजपा सरकार द्वारा दिए जा रहे निशुल्क राशन वितरण का लाभ सभी पात्र व्यक्तियों को मिल सके इसके लिए सांसद, विधायक, पार्टी पदाधिकारियों तथा बूथ के कार्यकर्ताओं को सक्रिय करने की योजना तैयार की गई। 

    बैठक में भाजपा सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं और गांव, गरीब, किसान, नौजवान के हितों के लिए किए गए कार्यों की प्रशंसा की गई। कहा गया कि योग के नेतृत्व में प्रदेश की भाजपा सरकार ने भ्रष्टाचार पर कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति अपनाई तथा अपराध व अपराधियों पर सख्त कार्रवाई की है। बैठक के बाद उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने पत्रकारों से कहा कि बैठक में 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर चर्चा हुई और 300 से अधिक सीट जीतने की योजना बनाई गई। 

    उन्होंने दावा किया कि भाजपा पिछली बार से ज्यादा प्रचंड बहुमत से चुनाव जीतेगी। उल्लेखनीय है कि 2017 में केशव प्रसाद मौर्य के प्रदेश अध्यक्ष रहते हुए भाजपा और सहयोगी दलों ने 403 सदस्यों वाली उत्तर प्रदेश विधानसभा में 325 सीटें जीती थीं। 

    कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने पत्रकारों को बताया कि भाजपा को 2022 के विधानसभा चुनाव में प्रचंड जीत कैसे मिले इस पर चर्चा हुई और इस सिलसिले में रणनीति बनाई जा रही है।’ उन्होंने कहा कि भाजपा फिर भारी बहुमत से सरकार बनाएगी। (एजेंसी)