राजस्थान: फिर दहेज़ की बलि चढ़ी तीन सगी बहने, रोंगटे खड़े कर देगा यह सनसनीखेज मामला

    जयपुर: राजस्थान (Rajasthan Crime) जयपुर जिले के दूदू कस्बे के एक कुएं में पांच शव मिलने से इलाके में सनसनी फ़ैल गई है। बताया जा रहा है कि, यह शव एक ही घर के पांच सदस्यों के है। जिसमें तीन महिला समेत दो बच्चे शामिल है। एएसपी दिनेश कुमार शर्मा ने बताया कि, परिवार में किसी बात को लेकर विवाद होने पर तीन बहनें ससुराल से भाग गईं। वे, तीन दिन से लापता बताए जा रहे थे, आगे की जांच जारी है। 

    दहेज के किया जाता था परेशान  

    मिली जानकारी के अनुसार,तीनों बहनों के नाम कालू मीना 25, ममता मीना 23 और कमलेश मीना 20 थे, जबकि उनके साथ मारे गए एक बच्चे की उम्र चार साल जबकि दूसरा एक महीने से भी कम उम्र का था। पुलिस के अनुसार, इस मामले में तीनों के पति और ससुरालवालों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। शिकायत में तीनों बहनों के पिता ने बताया कि, उन्हें ससुराल में दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाता था। उन्होंने यह भी बताया कि, 25 मई को उनकी सबसे छोटी बेटी ने फोन करके उन्हें बुलाया था। उसने बताया था कि उन तीनों को उनके पति व अन्य रिश्तेदार पीटते हैं। इसके साथ ही उसने अपनी जान का भी खतरा बताया। 

    पिता के साथ ससुरालवालों ने की गाली गलौज  

    एफआईआर के अनुसार, अपनी बेटियों के लापता होने की जानकरी मिलते ही पिता उनके ससुराल दादू पहुंचे थे। लेकिन जब वहां जाकर उन्होंने ससुरालवालों से इस बारे में पूछा तब बेटियों के ससुरालवाले और पांच-सात अन्य लोगों ने  पिता को गाली देना शुरू कर दिया। पिता ने शिकायत में कहा कि, उन्होंने कहा कि वह सब मर चुके हैं, हम कुछ नहीं जानते। यहां से भाग जाओ नहीं तो तुम भी मारे जाओगे। 

    पिता के मुताबिक, उसकी बड़ी बेटी कालू के दो बेटे थे, एक की उम्र चार वर्ष जबकि दूसरे की उम्र 22 दिन थी। वहीं, ममता और कमलेश 8-9 महीने की गर्भवती हैं। पिता ने यह भी आशंका जताई है कि, बेटियों के ससुरालवालों ने उनकी बेटियों और नातियों को साजिश के तहत मर डाला है और उनके गायब होने की बात कह रहे हैं।

    पुलिस ने महिला ससुराल वालों के परिवार के कुछ सदस्यों को हिरासत में लिया है।  पुलिस ने कहा कि, प्रथमदृष्टया मामला आत्महत्या का प्रतीत होता है। उनके शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है, जिसके बाद ही मौत की वजह स्पष्ट होगी।