( Photo- News18Lokmat)
( Photo- News18Lokmat)

    राजस्थान: हमारे देश में शादी को बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। इनमे की गई सभी रस्मों और रीति रिवाजों को बहुत खास माना जाता है। अब तक हम सुनते आ रहे थे की एक मंडप में एक ही विवाह होता है या ज्यादा से ज्यादा दो विवाह होते होंगे लेकिन राजस्थान में एक ऐसी अनोखी शादी हुई है जहां एक ही मंडप में 6 बहने दुल्हन बनी है और इतना ही नहीं बल्कि 3 अलग-अलग गांव से बाराती भी आएं है। आईये जानते है इस अनोखी शादी के बारे में…

    एक साथ 6 बहनों का विवाह 

    राजस्थान से एक अनोखी घटना सामने आई है जहां एक ही दिन 6 बहनों की शादी एक ही समय पर हो गई। स्कूल बस चालक पिता ने अपनी बेटी को बड़े ही आदर भाव ससुराल में विदाई की है। इससे पहले वह अपनी सभी छह बेटियों को एक साथ घोड़े से सवार चुके है। बता दें कि इस शादी में दिलचस्प बात ये है की यहां दूल्हे नहीं बल्कि दुल्हन घोड़ी पर सवार होकर आयी थी। एक ही दिन हुई छह बहनों की अनोखी शादी से गांव में खुशी का माहौल है। छह बहनों की शादी एक ही समय में हुई थी। 

    बहने चढ़ी घोड़ी पर 

    आपको बता दें कि यह अनोखी शादी राजस्थान के झुंझुनू जिले के खेतड़ी तालुका के चिरानी गांव में हुई। इस क्षेत्र के रहने वाले रोहिताश्व की कुल सात बेटियां और एक बेटा है। रोहिताश्व एक स्कूल के बस ड्राइवर है, जिसने अपनी छह बेटियों की शादी एक साथ की है। हालांकि छह लड़कियों ने एक साथ शादी कर ली हो लेकिन इस शादी में पिता ने किसी भी तरह की कोई कमी नहीं रखी। बड़े ही धूमधाम से उन्होंने अपने 6 लड़कियों को विदा किया है।  शादी से नहीं चूकीं। वह एक ही समय में अपनी छह बेटियों को घोड़े से पर बैठा चुके है।

    परिवार हुआ भावुक

    दरसअल इस शादी में सिर्फ यह परिवार ही नहीं बल्कि पूरा गांव शामिल था। छह बहनों की एक साथ शादी देख हर कोई हैरान था। कितने लोग खुश भी थे। अपने 6 लड़कियों को एक साथ अलविदा कहते हुए परिवार वाले भी भावुक हो गए। एक ही समय में छह बेटियां अपने ससुराल चली गईं, पिता का आंगन सुनसान था।

    सभी बहने है उच्चशिक्षित 

    बेटे विकास गुर्जर ने बताया कि उसके पिता स्कूल बस चलाते हैं। लेकिन उन्होंने अपनी बेटियों की पढ़ाई में कभी कोई कसर नहीं छोड़ी। उनकी बहनों मीना और सीमा ने एमए बी.एड किया है। तो अंजू और निक्की दोनों ने MM किया है। योगिता और संगीता ने बीएससी भी किया। सबसे छोटी बहन कृपा का निधन हो गया है और उन्होंने अभी तक शादी नहीं की है। उसने बीएससी भी पूरा कर लिया है। सभी लड़कियां पढ़ाई में होशियार हैं।