PIC: Social Media
PIC: Social Media

    जोधपुर: दुनियाभर से ऐसे कई अजीबोगरीब (Weird News) खबरें सामने आती हैं, जिन्हें जानकर काफी हैरानी होती है। आज के समय में भी कुछ लोग ऐसे हैं जो अंधविश्वास (blind faith) पर विश्वास रखते हैं। यह लोग अपने इस अंधविश्वास की वजह से कभी-कभार कुछ ऐसी हरकत भी कर देते हैं, जिसकी वजह से यह सुर्खियां बन जाती है। कुछ ऐसा ही एक मामला राजस्थान के जोधपुर (Jodhpur Weird News) से सामने आया है, जहां एक परिवार अपने 2 साल पहले मर चुके शख्स की आत्मा (Spirit) को लेने अस्पताल पहुँच जाते हैं। 

    दरअसल, जोधपुर के मथुरादास माथुर अस्पताल (Mathuradas Mathur Hospital Jodhpur) में दो साल पहले ब्यावर का निवासी उपचार के लिए भर्ती हुआ था, जहां उसकी मौत हो गई थी। लेकिन, उसके परिवार का मानना है कि, उसकी आत्मा को शांति को मुक्ति नहीं मिली और इसी वजह से उसका परिवार इसको लेकर काफी परेशान रहने लगा। परिवार को बताया गया कि उसकी आत्मा जोधपुर के अस्पताल में ही रह गई है। इसलिए उसे जाकर लाना पड़ेगा और फिर उसकी मुक्ति होगी। इस अंधविश्वास के चक्कर में मृतक शख्स का परिवार अस्पताल पहुँच गया। 

    मृतक का परिवार बुधवार को जोधपुर के एमडीएम अस्पताल में जलती जोत के साथ घूमता नजर आया। जिसके बाद वार्ड के पास मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें बाहर निकाल दिया। साथ ही अस्पताल प्रबंधन ने पुलिस को सूचित किया गया। लेकिन परिवार भोपाजी (लोक देवताओं का गायन करने वाला एक समुदाय) के साथ परिसर का चक्कर लगाकर मंत्रोच्चार किया। वहीं महिलाएं जल का छिडकाव करती हुई दिखाई दीं।

    इसके बाद मृतक का परिवार अपनी गाड़ी में जलती हुई जोत के साथ ही बाहर निकल गए और अपने घर ब्यावर के लिए रवाना हो गए। मृतक के एक परिजन ने बताया कि, हमारे भाई की मौत हो गई थी, इसी वजह से हम उसकी आत्मा को लेने आए थे। अब हमने आत्मा को ले लिया है और उसे अब वापस ले जा रहे हैं।