Farmer survived in leopard attack

आर्वी. खेत में काम कर रहे किसान पर अचानक झाडियो में छीपे तेंदुए ने हमला कर दिया. परंतु सौभाग्य से किसान इस हमले से बाल बाल बचा. उक्त घटना रविवार की दोपहर धनोडी खेत शिवार की बताई गई़ इसके बाद से आसपडोस के गांवो में तेंदुए की दहशत बनी हुई है. प्राप्त जानकारी के अनुसार वडगांव स्थित संजय कावले के खेत में कपास वेचाई का काम शुरु था. इसके लिए दादाराव किसन मेश्राम नामक खेत में गया था. दोपहर के समय काम करते समय अचानक समने से झाडियो में छिपकर बैठे तेंदूए ने दादाराव पर हमला कर दिया. परंतु यह बात ध्यान में आने से वह तेंदुए के हमले से बच गया.

पश्चात दादाराव की चिकपुकार सुनकर आसपडोस के किसान व मजदूर घटनास्थल पर पहुंचे.  इससे तेंदुआ वहां से भाग निकला. घटना सामने आते ही सर्वत्र हडकम्प मच गया. पश्चात किसान अमोल मेश्राम, संजय कावले, गजानन मारबते, काशीनाथ मारबते, दादाराव मेश्राम ने वनविभाग को सूचना दी. कुछ समय बाद वनविभाग की टिम घटनास्थल पहुंची, परंतु तब तक तेंदुआ काफी दूर निकल गया था.

घटना के कुछ दिन पूर्व तेंदुए ने बापुराव शिंदे की एक बकरी तथा गजानन सोनोने की बकरी का शिकार किया था. इस संबंध में वनविभाग को बार बार सूचित करने पर भी अनदेखी की जा रही है. रविवार की घटना के बाद धनोडी, वडगांव सहित आसपडोस के गांवों में तेंदूए की दहशत व्याप्त है. तेंदुए का शीघ्र बंदोबस्त करे, ऐसी मांग ग्रामीण कर रहे है.