पाल बने सर्व सेवा संघ के अध्यक्ष

वर्धा. सर्व सेवा संघ को अंतत: स्थायी रुप से अध्यक्ष मिला. रविवार को संघ के राष्ट्रीय अधिवेशन में चंदन पाल की नियुक्ति पर अंतिम मुहर लगाई गई. सचिव पद की जिम्मेदारी गौरांग महापात्रा पर सौंपी गई है. ज्ञात रहे कि, गत कुछ दिनों से संघ के अध्यक्ष पद को लेकर विवाद चल रहा था. अधिवेशन को लेकर न्यायालय तक प्रकरण जा पहुंचा था. 

सर्व सेवा संघ का राष्ट्रीय अधिवेशन सेवाग्राम में आयोजित किया गया था. रविवार को अधिवेशन का समारोप किया गया. इसके पूर्व अध्यक्ष पद पर सर्वसम्मति से चंदन पाल की नियुक्ति की गई. तत्पश्चात नए अध्यक्ष पाल ने सचिव पद की जिम्मेदारी महापात्र को सौपी तथा सदस्य के रुप में आशा बहन, संजय सिंह, प्रदीप खेलुलकर, अविनाश काकडे, शेख हुसैन, जगदीश शरण, शुभा प्रेम का चयन किया. चुनाव अधिकारी के रुप में रमेश पंकज ने काम संभाला. 

पालकमंत्री ने जताया खेद

समारोपिय कार्यक्रम को उपस्थित हुए पालकमंत्री सुनील केदार ने स्थानीय कांग्रेस नेताओं के सम्मेलन को लेकर दायर की गई पीटिशन व अन्य बातों पर माफी मांगते हुए खेद जताया. पालकमंत्री ने कहा कि, यह कोई राजनीतिक चुनाव नही था. इस पर राजनीति नही होनी चाहिए थी. किंतु कुछ व्यक्ति कोर्ट तक जा पहुंचे, जिसकी कोई आवश्यकता नही थी. इस बात से आप सभी को पीडा हुई है, जिसके लिए उन्होने माफी तक मांगी. प्रशासन मनमानी कर रहा है. गांधीवादी, आम जनता के हितों का विचार करते है.

जिससे सभी गांधीवादी संगठनों ने एकजुट होकर काम करना चाहिए. गांधी आश्रम व जनता में समन्वय का अभाव निर्माण हुआ है. देश में आज भी गांधी विचार जीवित है. गांधी विचार घर-घर में पहुंचाने के लिए कार्य करना आवश्यक है, ऐसा पालकमंत्री ने कहा. इस अवसर पर आश्रम प्रतिष्ठान के अध्यक्ष टी आर एन प्रभू, सर्वसेवा संघ के प्रबंधक ट्रस्टी अशोक शरण, शेख हुसैन, शीवचरण ठाकुर आदी उपस्थित थे. अधिवेशन के चलते परिसर में आज भी पुलिस बंदोबस्त रखा गया था.