Wardha ST Bus Stand

    वर्धा. मई महीने में कोरोना मामलों में वृद्धि होने से जिला प्रशासन की ओर से संपूर्ण लाकडाउन लागू किया गया. इस दौरान कुछ दिन तो बसों का परिचालन पूर्णत: ठप हो गया था़ फिर धीरे-धीरे नियमों में ढिलाई देने के बाद एसटी बसों का परिचालन शुरू हुआ, लेकिन जिलाबंदी व बाजार बंद होने के कारण यात्री नहीं मिल रहे थे़ सोमवार से प्रशासन की ओर से बाजार शुरू करने को अनुमति के साथ ही जिलाबंदी भी हटाई गई है़ परिणामवश एसटी बसों का परिचालन पूर्ण क्षमता के साथ शुरू हुआ़ सभी बस स्टैंड पर यात्रियों का अच्छा प्रतिसाद दिखाई दिया़ कोरोना लाकडाउन का बड़ा असर राज्य मार्ग परिवहन महामंडल की बसों के परिचालन पर पड़ा है.

    सभी स्टैंड पर मिला बेहतर प्रतिसाद 

    यात्रियों की संख्या में कमी आने से एसटी को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है़  इसके चलते कर्मचारियों के वेतन की भी समस्या का प्रश्न निर्माण हो गया था़  इससे पूर्ण क्षमता के साथ एसटी बसों का परिचालन कब शुरू होगा, इसे लेकर सभी को इंतजार था़  आखिरकार यह इंतजार सोमवार को खत्म हो गया. बस स्टैंड पर भी यात्रियों का अच्छा प्रतिसाद दिखाई दिया.  

    वर्धा डिपो से बसों के लिए 32 शेड्यूल

    सोमवार को वर्धा डिपो से शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र के लिए बसों के 32 शेड्यूल लगाए गए थे, जिसमें चंद्रपुर 4, अमरावती 4, यवतमाल 4, अकोला 1, नांदेड़ 1 व नागपुर व ग्रामीण क्षेत्र का समावेश था़  इस दौरान बस स्टैंड पर चहल-पहल थी़  ग्रामीण विभाग से वर्धा में खरीदारी तथा अन्य कामकाज के लिए आने वाले नागरिकों की संख्या बड़ी थी.  

    बसों को पूरी तरह से किया सैनिटाइजेशन 

    एसटी की ओर से बसों का परिचालन करते समय कोरोना के मद्देनजर सावधानी बरती जा रही है़  बस का प्रत्येक शेड्यूल होने के बाद सैनिटाइजेशन किया जा रहा था़  इस दौरान क्षमता से ज्यादा यात्रियों का परिचालन न हो, इस ओर गंभीरता से ध्यान दिया जा रहा था.