US Elections 2020: Record voting in US presidential election, know what were the old records

बॉस्टन (अमेरिका): अमेरिकी अधिकारियों (American Officials) ने मंगलवार रात एक दुर्लभ संवाददाता सम्मेलन में कहा कि ईरान (Iran), अमेरिकी मतदाताओं (American Voters) को धमकाने तथा कई राज्यों में अशांति के लिए जिम्मेदार है। वहीं ईरान एवं मास्को (Moscow) ने चुनाव में हस्तक्षेप करने के लक्ष्य से कुछ मतदाता पंजीकरण डाटा (Voter Registration Data) भी हासिल किये हैं।

खुफिया विभाग के निदेशक जॉन रैटक्लिफ और एफबीआई के निदेशक क्रिस रे ने कहा कि अमेरिका 2020 अमेरिकी चुनाव में हस्तक्षेप करने वाले देशों पर जुर्माना लगाएगा। उन्होंने कहा कि ईरान और रूस की इस हरकत के बावजूद अमेरिकी भरोसा रखें की उनका मत सुरक्षित है।

रैटक्लिफ ने कहा, ‘‘ यह हताश विरोधियों द्वारा की गई हताशा भरी कार्रवाई है।” फ्लोरिडा और पेंसिल्वेनिया सहित चार ‘बैटलग्राउंड स्टेट’ में डेमोक्रेटिक मतदाताओं को धमकी भरे ईमेल मिलने के बाद यह संवाददाता सम्मेलन बुलाया गया था। (एजेंसी)