During the war with Corona, there were serious allegations of corruption against the Health Minister of South Africa, know the whole matter
Representative Image

    जोहानिसबर्ग: दक्षिण अफ्रीका (South Africa) में भ्रष्टाचार (Corruption) का एक मामला सामने आने के बाद स्वास्थ्य मंत्री (Health Minister) ज्वेली मखिजे को छुट्टी पर भेज दिया गया है। मखिजे पर आरोप है कि, सरकारी अनुबंध में अनियमितता के जरिए एक कंपनी को 1.1 करोड़ डॉलर का भुगतान किया गया था। इस कंपनी का संबंध मखिजे के लिए काम करने वाले दो लोगों से है। दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए चलाए जा रहे अभियान का नेतृत्व ज्वेली मखिजे ही कर रहे हैं।

    राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा ने मंगलवार को एक वक्तव्य जारी कर कहा कि, अनुबंध को लेकर लगे भ्रष्टाचार के मामले की जांच पारदर्शी तरीके से हो और मखिजे इसमें सहयोग करें, इसके लिए उन्हें स्वास्थ्य मंत्रालय के उनके कार्यभार से मुक्त कर छुट्टी पर भेजा जा रहा है। राष्ट्रपति ने कहा कि तब तक देश के पर्यटन मंत्री कार्यवाहक स्वास्थ्य मंत्री का काम संभालेंगे। इस मामले की जांच कर रही विशेष जांच इकाई ने अभी तक कोई रिपोर्ट जारी नहीं की है, लेकिन मखिजे के नेतृत्व वाले स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अनुबंध में काफी अनियमितताएं पाईं गयीं हैं।

    मखिजे ने खुद पर लगे आरोपों से इनकार करते हुए कहा है कि, इस अनुबंध से उन्हें निजी तौर पर कोई फायदा नहीं हुआ है। दरअसल, कोविड-19 महामारी के दौरान संवाददाता सम्मेलन आयोजित करने को लेकर डिजिटल वाइब्स नामक कंपनी के साथ एक अनुबंध किया गया था।

    मखिजे के पूर्व निजी सहायक और पूर्व प्रवक्ता इस कंपनी से जुड़े हुए हैं। ऐसे भी आरोप लगाए जा रहे हैं कि मखिजे के बेटे को इस अनुबंध से लाभ हुआ है। दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में जुटी हुई टीम के खिलाफ भ्रष्टाचार के कई मामले सामने आए हैं।