शादी के बाद भी ‘यहां’ पत्नी गैर मर्द के साथ बना सकती है ‘यौन संबंध’, जानें

दुनिया में विभिन्न जाती (Cast), धर्म (Religion) के लोग रहते है। इन सभी जातियों के रिवाज भी अलग-अलग होते है। लेकिन अफ्रीका (Africa) में रहने वाली कुछ आदिवासी जनजातियों (Tribal) में कुछ अजीब रिवाज और नियम हैं। इनमें से सबसे ज्यादा हैरान करने वाले रिवाज़ ओरोमा जनजाति (Oroma Tribal) के है। इस समुदाय की महिलाओं को शादी (After Marriage other person Sex) के बाद भी गैर मर्द के साथ यौन संबंध रखने की अनुमति है। इतना ही नहीं तो, यहां ऐसी महिलाओं का समर्थन भी किया जाता है। नवभारत टाइम्स ने जियोफिजिसिस्ट रणेश पांडे के हवाले से यह जानकारी दी है।

ओरोमा लोगों को बौराना भी कहा जाता है। यह जनजाति एवियोपिया के दक्षिणी ओरोमिया (South Oromia of Ethiopia) के बोराना क्षेत्र, सोमालिया (Somalia) के सीमा क्षेत्र और उत्तरी केन्या (Northern kenya) में रहती है। बौराना लोग ‘गड्डा’ प्रणाली के अनुसार अपना जीवन व्यतीत करते हैं। उनके जीवन में वहां की सरकार का कोई हस्तक्षेप नहीं होता है। इन लोगों की एक स्वतंत्र लोकतांत्रिक व्यवस्था है। इसके तहत वे राजनीतिक, आर्थिक, सामाजिक और धार्मिक स्थिति को नियंत्रित करते हैं।

इस समुदाय में महिलाओं को विशेष अधिकार प्राप्त हैं। विवाहित महिलाएं अपने पति के अलावा अन्य पुरुषों के साथ यौन संबंध बना सकती हैं। खास बात तो यह है कि, यहां महिला के इस फैसले का सम्मान किया जाता है और पूरा समुदाय इसका समर्थन करता है। 

पत्नी तय करती है कि, कौन उसके घर में प्रवेश करेगा और उसके साथ यौन संबंध बनाएगा। जब पत्नी अपने घर में गैर मर्द के साथ संबंध बनती है उस समय घर के बहार एक पेड़ का पत्ता रखा जाता है, उसे देखकर वह घर के अंदर प्रवेश नहीं करता। जब वह अजनबी बाहर आता है और पत्ता निकालता है तभी पति घर जा सकता है।

बोराना ओरोमा एक घुमतु जाती है। वे ऊंट और अन्य जानवरों के लिए चारे के लिए इधर-उधर घूमते हैं। बोराना ओरोमा समुदाय के पुरुष जानवरों के झुंड का नेतृत्व करते हैं। जबकि बोराना महिलाएं घर का नेतृत्व करती हैं। बोराना गाय, बकरी, ऊंट जैसे जानवरों को पालते है। जब वे पारंपरिक नृत्य करते हैं, तो यह समझा जाता है कि किसी के घर में बच्चे का जन्म हुआ है। वहीं यह लोग तीन साल तक अपने बच्चे का नाम नहीं रखते हैं।

बोराना ओरोमा समुदाय के किसी बच्चे ने जंगली जानवर जैसे कि, हाथी, शेर, गेंडा, और भैंसों का शिकार करने के बाद उसे विशेष अधिकार प्राप्त होता है। ऐसे बच्चों को बाद में नेता के रूप में चुना जाता है।