Huawei case: Ambassador met two Canadian nationals held in China for two years

बीजिंग: चीन (China) की प्रौद्योगिकी कंपनी (Technology Company) हुआवे (Huawei) की एक कार्यकारी अधिकारी की गिरफ्तारी को लेकर विवाद के बीच, चीन में कनाडा (Canada) के राजदूत (Ambassador) ने करीब दो साल से बंदी बनाकर रखे गए अपने देश के दो नागरिकों से मुलाकात की।

कनाडा सरकार (Canada Government) ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा है कि राजदूत डोमिनिक बार्टन (Dominic Barton) ने बृहस्पतिवार को पूर्व राजनयिक माइकल कोवरिग (Michael Kovrig) से और 10 नवंबर को कारोबारी माइकल स्पावोर (Michael Spavor) से मुलाकात की। हुआवे की कार्यकारी अधिकारी मेंग वांगझू (Meng Wanzhou) को कनाडा द्वारा हिरासत में लिए जाने के बाद दोनों को दिसंबर 2018 से ही रोक कर रखा गया है।

कनाडा के नागरिकों को किस जगह हिरासत में रखा गया है या वे किस हालत में हैं, इस बारे में कोई सूचना नहीं है। कनाडा ने आरोप लगाया है कि मेंग की रिहाई को लेकर दबाव बनाने के लिए चीन ने उसके दोनों नागरिकों को अवैध तौर पर गिरफ्तार किया। मेंग को कनाडा के शहर वेंकूवर में नजरबंद किया गया है।

ईरान (Iran) पर लगाए गए कारोबारी प्रतिबंध (Business Restrictions) की अवहेलना के आरोपों को लेकर अमेरिका (America) प्रत्यर्पण करने के आदेश को भी मेंग ने चुनौती दी है । चीन का कहना है कि कनाडा को मेंग को हिरासत में रखने का कोई अधिकार नहीं है तथा कोवरिग और स्पावोर को राष्ट्रीय सुरक्षा अपराधों के संदेह में हिरासत में लिया गया। चीन ने कनाडा के दो अन्य नागरिकों को मौत की सजा सुनाई। कनाडा पर दबाव बनाने के लिए उसने कनोला के आयात पर भी रोक लगा दी थी।