Iran's President Hassan Ruhani's big claim amid ongoing talks on nuclear deal, said - 'important' consensus has been reached among diplomats
Representative Image

    तेहरान: ईरान (Iran) के अर्द्धसैनिक रिवॉल्युशनरी गार्ड (Revolutionary Guard) ने सोमवार को मिसाइल भंडारण के लिए नए भूमिगत केंद्र (Underground Center for Missile Storage) का उद्घाटन किया। यह जानकारी देश के सरकारी टेलीविजन ने दी। खबरों में गार्ड के कमांडर जनरल हुसैन सलामी के हवाले से कहा गया कि क्रूज और बैलेस्टिक मिसाइल (Ballistic Missile), बल की नौसेना (Navy) को और शक्तिशाली बनाएंगे।

    टीवी पर एक बंद स्थान पर दर्जनों मिसाइल के फुटेज दिखाए गए जो भूमिगत कोरीडोर से मिलते-जुलते थे। इसने यह नहीं बताया कि यह केंद्र कहां है, न ही वहां रखे गए मिसाइलों की संख्या बताई।

    ईरान ने 2011 से ही देश भर में भूमिगत केंद्रों की संख्या बढ़ाई है। साथ ही हुरमुज की खाड़ी के नजदीक दक्षिण तट पर भी तैनाती बढ़ाई है। ईरान का दावा है कि उसके पास ऐसे मिसाइल हैं जो दो हजार किलोमीटर की दूरी तक जा सकते हैं, जिससे इजरायल सहित पश्चिम एशिया के अधिकतर स्थान इसकी जद में हैं। अमेरिका और इसके सहयोगी ईरान के मिसाइल एवं परमाणु कार्यक्रम को खतरे के तौर पर देखते हैं।