Israel angry over program aired on Chinese government channel, says 'fierce Jewish opposition'
File

    गाजा सिटी (गाजा पट्टी): इजराइली युद्धक विमानों (Israel War Planes) ने सोमवार सुबह गाजा सिटी (Gaza City) के कई स्थानों पर भीषण हवाई हमले (Air Strikes) किए। इसके कुछ ही घंटे पहले इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Prime Minister Benjamin Netanyahu) ने गाजा पर काबिज चरमपंथी समूह हमास के खिलाफ चौथे युद्ध के जोर पकड़ने का संकेत दिया था। करीब 10 मिनट तक विस्फोटों से शहर का उत्तर से दक्षिण का इलाका थर्रा उठा।

    एक बड़े इलाके पर भीषण बमबारी हुई और यह 24 घंटे पहले हुए हवाई हमले से भी भीषण थी जिसमें 42 फलस्तीनियों की मौत हो गयी थी। इजराइल और हमास संगठन के बीच हिंसा की इस हालिया घटना से पहले इजराइल के हवाई हमले में तीन इमारतें ध्वस्त हो गयी थीं। स्थानीय मीडिया की खबरों में कहा गया है कि शहर के पश्चिम में मुख्य तटीय सड़क पर सुरक्षा परिसर और खुले स्थान सोमवार सुबह के हमले में निशाना बने। बिजली वितरण कंपनी ने बताया कि हवाई हमले में दक्षिणी गाजा सिटी के बड़े हिस्सों को बिजली पहुंचाने वाले एकमात्र संयंत्र से बिजली की एक लाइन क्षतिग्रस्त हो गयी। हालांकि हताहतों को लेकर तत्काल कोई सूचना नहीं है।

    रविवार को टेलीविजन पर प्रसारित संबोधन में नेतन्याहू ने कहा था कि इजराइल पूरे ‘‘दम खम” से हमला जारी रखे हुए है और यह कुछ समय तक जारी रहेगा।” उन्होंने कहा कि हमास को ‘‘भारी कीमत चुकानी होगी।” इस दौरान एकजुटता दिखाने के लिए रक्षा मंत्री और राजनीतिक प्रतिद्वंद्वी बेन्नी बेन्नी गैंट्ज भी उनके साथ थे।

    इजराइली आपात सेवा ने बताया कि हमास ने भी गाजा में असैन्य इलाकों से इजराइल में असैन्य इलाकों की ओर रॉकेट दागे। एक रॉकेट दक्षिणी शहर अशकेलॉन में सिनेगॉग में प्रार्थना शुरू होने से कुछ देर पहले गिरा। हालांकि, घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि मरने वालों में 16 महिलाएं और 10 बच्चे शामिल हैं और 50 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। इजराइल के हमले में ध्वस्त हुए इमारत से सटे भवन में रहने वाली हया अब्देलाल (21) ने कहा कि जिस वक्त हवाई हमले हुए, वह सो रही थीं और इसके कारण उन्हें भागकर सड़क पर जाना पड़ा।

    उन्होंने इजराइल पर इस तरह के हमले से पहले वहां के लोगों को चेतावनी नहीं देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘‘हमें शांति चाहिए। अब हम और तबाही सहन नहीं कर सकते।” इजराइली सेना के प्रवक्ता के कार्यालय ने कहा कि हमले में हमास के ‘‘भूमिगत सैन्य ढांचों” को निशाना बनाया गया। मरने वालों में शिफा अस्पताल में इंटरनल मेडिसिन विभाग के प्रमुख और अस्पताल में कोरोना वायरस प्रबंधन समिति के वरिष्ठ सदस्य अयमन अैमान अबु अल-ओउफ शामिल हैं। हमले में ओउफ के दो बच्चे और परिवार का एक अन्य सदस्य भी मलबे में दब गए।

    नेतन्याहू की शनिवार को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन से फोन पर बातचीत हुई। बातचीत के दौरान क्या उन्होंने इमारत में हमास की मौजूदगी के सबूत के बारे में बताया, यह पूछे जाने पर नेतन्याहू ने कहा, ‘‘हमें अपने खुफिया अधिकारियों से इसकी सूचना मिली। इस बीच मीडिया निगरानी संस्था ‘रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स’ ने अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय को समाचार एजेंसी ‘एपी’ के भवन पर इजराइल के बमबारी की जांच का अनुरोध किया है। इस भवन में कुछ अन्य मीडिया कार्यालय भी थे।