Trump agreed on Transfer of power to Biden in 'systematic' manner on 20 January: report

वाशिंगटन: कैलीफोर्निया (California) राज्य ने शुक्रवार को राष्ट्रपति चुनाव (Presidential Elections) के अपने परिणामों पर मुहर लगा दी और डेमोक्रेट (Democratic) उम्मीदवार जो बाइडन (Joe Biden) के पक्ष में मतदान के लिए प़्रतिबद्ध 55 निर्वाचकों (इलेक्टर) की नियुक्ति करते हुए बाइडन की जीत के लिए जरूरी इलेक्टोरल कॉलेज (Electoral College Votes) में बहुमत उन्हें सौंप दी।

एपी एजेंसी के अनुसार बाइडन की जीत पर सेक्रेटरी ऑफ स्टेट एलेक्स पैडिला की औपचारिक मुहर लगने के बाद उन्हें अब तक 279 इलेक्टर का समर्थन मिल चुका है। यह आंकड़ा 270 के बहुमत के जादुई आंकड़े से अधिक है। राष्ट्रपति चुनाव में सामान्य तौर पर इन कदमों में औपचारिकताओं पर इतना बल नहीं दिया जाता। लेकिन अमेरिकी राष्ट्रपति के निर्वाचन की गुप्त प्रणाली पर इस बार नये सिरे से नजर डाली गयी है क्योंकि डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) लगातार बाइडन की जीत को स्वीकार नहीं कर रहे हैं और अंतिम परिणामों से पहले इन्हें पलटने के लिए तरह-तरह के कानूनी कदम उठा रहे हैं। पिछले कई सप्ताह से यह साफ है कि बाइडन राष्ट्रपति चुनाव जीत गये हैं।

ओहायो स्टेट यूनिवर्सिटी में विधि के प्रोफेसर एडवर्ड बी फोले ने कहा कि बाइडन को 270 से अधिक इलेक्टर का समर्थन मिलना व्हाइट हाउस की तरफ उनका पहला कदम है। उन्होंने कहा, ‘‘यह एक कानूनी स्तर है और पहला स्तर भी है जिसका आधार है। इससे पहले तक सब कुछ अनुमानों पर आधारित था।”

शुक्रवार को जिन इलेक्टरों की जीत की घोषणा की गयी वे 14 दिसंबर को अन्य राज्यों के अपने समकक्षों के साथ बैठक करेंगे और अगले राष्ट्रपति के लिए औपचारिक मतदान करेंगे। इलेक्टोरल कॉलेज वोट के परिणाम प्राप्त होने के बाद कांग्रेस इन पर छह जनवरी को अंतिम मुहर लगाएगी। वैसे सांसद इस परिणाम पर आपत्ति दर्ज करा सकते हैं, लेकिन इस स्तर पर बाइडन को रोक पाना लगभग असंभव होगा।