Amidst the threat of Omicron, the UK government's big decision, corona rules relaxed
File

    लंदन: ब्रिटेन (Britain) की सरकार ने कहा कि अनिवार्य रूप से मास्क पहनने सहित अधिकतर कोविड प्रतिबंध (Covid Restrictions) बृहस्पतिवार को हटा लिए गए, क्योंकि ‘बूस्टर’ खुराक (Booster Dose) देने के अभियान की शुरुआत होने से बीमारी की गंभीरता और कोविड​​​​-19 (Covid-19) के कारण लोगों के अस्पताल (Hospital) में भर्ती होने की संख्या सफलतापूर्वक कम हुई है।

    इंग्लैंड में बृहस्पतिवार से कहीं भी मास्क लगाना कानूनी रूप से बाध्यकारी नहीं रह गया है और नाइट क्लबों तथा अन्य बड़े स्थानों में प्रवेश के लिए कोविड पास की कानूनी आवश्यकता को भी समाप्त कर दिया गया है। सरकार ने पिछले हफ्ते लोगों को घर से काम करने की सलाह के साथ-साथ कक्षाओं में मास्क पहनने को लेकर अपना दिशानिर्देश भी वापस ले लिया था।

    कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के कारण स्वास्थ्य सेवाओं पर बढ़ते दबाव और टीके की बूस्टर खुराक लेने से महामारी के प्रकोप को कम करने के प्रयास के तहत तथाकथित ‘‘प्लान बी” उपाय को दिसंबर की शुरुआत में शुरू किया गया था। स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद ने कहा कि सरकार का टीकाकरण अभियान की शुरू करना, जांच और एंटीवायरल उपचार, ‘‘यूरोप में कुछ सबसे मजबूत बचाव” के तरीकों में शामिल हैं, जिससे सामान्य स्थिति में लौटने में मदद मिलती है।

    उन्होंने कहा, ‘‘हम कोविड के साथ जीना सीख गए हैं, लेकिन हमें यह स्पष्ट करने की आवश्यकता है कि यह वायरस हमसे दूर नहीं गया है। संक्रमण के मामलों में कमी जारी है, लेकिन स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार ओमीक्रोन पूरे देश में मौजूद है, खासकर बच्चे और बुजुर्ग इससे प्रभावित हैं।” अधिकारियों ने कहा कि ब्रिटेन में 12 वर्ष से अधिक उम्र के लगभग 84 प्रतिशत लोगों को टीके की दूसरी खुराक मिली है और जो पात्र हैं, उनमें से 81 प्रतिशत ने अपनी बूस्टर खुराक ले ली है।

    अस्पताल में भर्ती होने के मामलों और आईसीयू में लोगों की संख्या स्थिर हो गई है या कमी आ गई है और नए साल की शुरुआत के आसपास एक दिन में जहां दैनिक मामले 2,00,000 से अधिक आ रहे थे वहीं, इसकी तुलना में हाल के दिनों में ये घटकर 1,00,000 से कम हो गए हैं। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने पिछले हफ्ते कहा था कि ओमीक्रोन से संक्रमण के मामलों में वृद्धि ‘‘अब राष्ट्रीय स्तर पर चरम पर है।”

    सरकार ने कानूनी उपायों में ढील दी है, लेकिन कुछ दुकानदारों और सार्वजनिक परिवहन संचालकों का कहना है कि वे लोगों से अपने चेहरे पर मास्क लगाने के लिए कहना जारी रखेंगे। लंदन के महापौर सादिक खान ने कहा कि राजधानी की बसों और मेट्रो ट्रेनों में अब भी मास्क लगाना जरूरी होगा। संक्रमित लोगों के लिए पूरे पांच दिन तक पृथक-वास में रहना कानूनी रूप से आवश्यक बना हुआ है, लेकिन जॉनसन ने कहा कि यह नियम भी जल्द ही समाप्त हो जाएगा।

    स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा है कि वे महामारी के बाद की दीर्घकालिक रणनीति बना रहे हैं जिससे कोविड-19 को सामान्य फ्लू की तरह ही देखा जाए। स्कॉटलैंड, वेल्स और उत्तरी आयरलैंड, जो अपने स्वयं के सार्वजनिक स्वास्थ्य नियम बनाते हैं, ने भी इसी तरह अपने वायरस प्रतिबंधों में ढील दी है।