पति ने पहले पत्नी को उतारा मौत के घाट, फिर 3 बेटियों को भून डाला; थर्रा उठा पूरा इलाका

    जर्मनी: विश्व भर में कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron) की दहशत फैली हुई है। इसी बीच जर्मनी (Germany) से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। जिसे जानकर हर कोई रह गया है। इस तरह की खौफनाक मंज़र देख आसपास के लोग अभी भी सदमे में हैं। जर्मनी के Koenigs Wuster Heusen इलाके में एक युवक ने अपनी पत्नी और तीन बच्चियों की गोली मारकर हत्या कर दी। उसके बाद उसने खुद को भी गोली मारकर आत्महत्या (Suicide) की है। इन सबके पीछे की वजह शख्स ने एक सुसाइड नोट (Suicide Note) में लिखा है।   

    हत्याकांड में पूरा परिवार खत्म 

    द सन में प्रकाशित खबर के मुताबिक, इस हत्याकांड में पूरा परिवार खत्म हो गया है। अपने परिवार को खत्म करने वाले शख्स का नाम डेविड है। जिसने सबसे पहले अपनी 40 साल की पत्नी लिंडा को गोली मारी, फिर 4 साल, 8 साल और 10 साल की बेटी को भी गोली मार दी। इस दिनदहाड़े हुई फायरिंग से इलाका दहशत में आ गया। गोली की आवाज़ सुनकर आसपास के लोग उनके घर के तरफ दौड़े, वहीं उन्हीं में से किसी ने पुलिस को इस बात की जानकारी भी दी। 

    जाली वैक्सीन सर्टिफिकेट का खौफ 

    डेविड ने सुसाइड नोट में इस हत्याकांड के पीछे की वजह को बताई है। उसने सुसाइड नोट में लिखा कि, उसने अपनी पत्नी लिंडा के लिए नकली वैक्सीन सर्टिफिकेट (Fake Covid Certificate) बनवाया था। जिसकी पता लिंडा के ऑफिस वालों को लग गया था। डेविड को डर था कि जिसने उसकी पत्नी के लिए वर्किंग पासपोर्ट बनवाया है उसने पुलिस को सब बता दिया तो उसे देश के महामारी कानून के तहत कड़ी सजा  हो जाएगी और फिर उसके बच्चे अकेले हो जाएंगे और वह उनसे दूर हो जाएगा। इसी वजह से उसने ऐसा खौफनाक कदम उठाया।

    ये है देश का कानून 

    इस पूरे खौफनाक घटना पर पुलिस का कहना है कि देश में फेक यानी जाली वैक्सीन सर्टिफिकेट जमा करने पर सख्त सजा का प्रावधान है। अगर ऐसा करते हुए कोई दोषी पाया जाता है तो आरोपियों को भारी जुर्माने के साथ एक साल की सजा सुनाई जाती है। इस मामले की जांच कर रही टीम को संदेह है कि डेविड भी सजा से डर गया था, इसलिए उसने ऐसा कदम उठाया और अपने पूरे परिवार की हत्या कर दी।